Select your Language: हिन्दी
India

खतरनाक ‘कोरोना’ वायरस की भारत में दस्तक! चीन से लौटा छात्र अस्पताल में भर्ती

खतरनाक 'कोरोना' वायरस की भारत में दस्तक! चीन से लौटा छात्र अस्पताल में भर्ती

जयपुर: राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने सवाई मान सिंह (एसएमएस) मेडिकल कॉलेज प्रशासन को चीन से एमबीबीस की पढ़ाई कर लौटे चिकित्सक के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका पर उन्हें तत्काल अलग वार्ड (आइसोलेशन) में रखने एवं उनके पूरे परिवार की स्क्रीनिंग के निर्देश दिए हैं।

शर्मा ने संदिग्ध मरीज के नमूने तत्काल पुणे स्थित नेशनल वायरोलॉजी लैब भिजवाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के 4 जिलों में 18 व्यक्ति चीन की यात्रा कर लौटे हैं। संबंधित चारों जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को इन सभी को 28 दिनों तक लगातार निगरानी में रखने के निर्देश दिए गए हैं।

चीन में कोरोनावायरस से अब 56 की मौत

चीन में वैज्ञानिक प्राणघातक कोरानावायरस के खिलाफ टीका विकसित करने का प्रयास कर रहे हैं। इस बीच रविवार को इस विषाणु से अकेले चीन में मरने वालों की तादाद 56 हो गई, वहीं सार्स जैसे विषाणु से संक्रमित होने वालों की संख्या 3000 पहुंचने की आशंका हैं जिसके मद्देनजर प्रशासन ने महामारी को फैलने से रोकने के लिए यात्रा प्रतिबंधों में विस्तार किया है।हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान 1.1 करोड़ आबादी वाला शहर है और संक्रमण का मुख्य केंद्र हैं। हुबेई के महापौर ने रविवार को बताया कि 56 लोगों की मौत हुई है, 1975 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है जबकि शहर में 1,000 नए मरीज होने की आशंका है।

वुहान और हुबेई प्रांत के 17 अन्य शहरों में है केंद्र

हांगकांग से प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने रविवार को बताया कि नया कोरोनावायरस इनक्युबेशन काल (अंडे सेने का समय)जो 14 दिनों का होता है और संक्रमण फैला सकता है और इस प्रकार विषाणु के संक्रमण फैलाने की क्षमता मजबूत हो रही है। एनएचसी का प्रभार देख रहे मंत्री मा झियावेई ने बताया कि प्रशासन की विषाणु के प्रति जानकारी सीमित है और वे इसमें होने वाले बदलाव से होने वाले खतरे के बारे में अनभिज्ञ हैं।

इस बीमारी का केंद्र वुहान और हुबेई प्रांत के 17 अन्य शहरों को बताया जा रहा है जहां विषाणु ने सबसे अधिक लोगों की जान ली है लेकिन अब बीजिंग समेत चीन के अन्य प्रांतों और शहरों में भी इस प्रकार के मामले तेजी से फैल रहे हैं। वुहान से शुरू संक्रमण पूरे चीन में फैल गया है और अमेरिका सहित करीब एक दर्जन देशों में इससे संक्रमण होने की पुष्टि हुई है। अमेरिका, फ्रांस और रूस अपने नागरिकों को वुहान से निकालने की तैयारी कर रही है। वहीं अन्य देश संक्रमण रोकने के लिए संभावित संक्रमितों को अलग स्थान पर रखने की वैकल्पिक व्यवस्था कर रही है।

Related Articles

Back to top button