Select your Language: हिन्दी
India

दिल्ली चुनाव में बीजेपी ने लगाई पूरी ताकत, कई दिग्गजों को चुनावी रैलियो के लिए मैदान में उतारा

दिल्ली चुनाव में बीजेपी ने लगाई पूरी ताकत, कई दिग्गजों को चुनावी रैलियो के लिए मैदान में उतारा

नई दिल्ली: दिल्ली में 8 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है. इस चुनाव में बीजेपी जीत के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती. यही वजह है कि बीजेपी ने अपने तमाम मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, सांसद, नेता और विधायकों को इस चुनाव में उतार दिया है. ना सिर्फ बड़े नेताओं से चुनाव प्रचार कराया जा रहा है बल्कि इन नेताओं को चुनाव की जिम्मेदारी भी दी गई है. दिल्ली के चुनाव के प्रबंधन का काम भी केंद्रीय मंत्रियों को सौंपा गया है. सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर दिल्ली के चुनाव प्रभारी हैं और उनकी मदद करने के लिए केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय उनके साथ हैं.

हर लोकसभा सीट पर बड़े नेता को चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी

इतना ही नहीं हर लोकसभा सीट पर बड़े नेता को चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी दी गई है. जहां चांदनी चौक लोकसभा सीट के लिए महाराष्ट्र के नेता अशीष शेलार को प्रबंधक बनाया गया है. वहीं उत्तर पूर्वी लोकसभा सीट की जिम्मेदारी पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा को दी गई है. पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट का चुनाव प्रबंधन केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी को सौंपा है, तो नई दिल्ली लोकसभा की जिम्मेदारी पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के पास है. पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट पूर्व मंत्री राधा मोहन सिंह देखेंगे. इसके अलावा दक्षिणी दिल्ली लोकसभा सीट पर गजेंद्र शेखावत और उत्तर पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट का काम मनसुख मंडाविया देखेंगे. हर लोकसभा सीट में 10 विधानसभा सीटें हैं. इन सभी 10 सीटों पर चुनाव प्रबंधन प्रचार और रैलियों की जिम्मेदारी यह लोग निभाएंगे.

दिल्ली चुनाव के लिए बीजेपी ने अपने कई मुख्यमंत्रियों और पूर्व मुख्यमंत्रियों को भी मैदान में प्रचार के लिए उतार दिया है. इसमें गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत दिल्ली में बीजेपी के लिए प्रचार कर रहे हैं. वहीं पूर्व मुख्यमंत्रियों की बात करें तो मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह शामिल हैं. जल्दी ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और उत्तर-पूर्वी राज्यों के मुख्यमंत्री भी दिल्ली में चुनाव प्रचार के लिए आएंगे.

प्रचार करने वालों में केंद्रीय मंत्रियों की एक लंबी फेहरिस्त

केंद्रीय मंत्रियों की बात करें तो एक लंबी फेहरिस्त है. दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान जैसे बड़े मंत्री दिल्ली में चुनाव प्रचार कर रहे हैं. ‌

इसके अलावा कई राज्यों के मंत्रियों को भी दिल्ली में प्रचार के लिए बुलाया गया है. साथ ही देशभर से सांसद और विधायकों को भी चुनाव प्रचार में उतारा गया है. वहीं जल्द प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी दिल्ली में बीजेपी के लिए चुनावी रैली करेंगे. प्रधानमंत्री के अलावा इस चुनाव में बीजेपी के साथ चुनाव लड़ रही जेडीयू के अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी दिल्ली में चुनावी रैली संबोधित करेंगे. विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. यह सभी केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, सांसद और अलग-अलग राज्यों से आए मंत्री और विधायक रोजाना तीन से चार छोटी नुक्कड़ सभाएं रैली और रोड शो कर रहे हैं. बीजेपी चुनाव में अपनी पूरी ताकत लगा रही है. अब देखना यह है कि बीजेपी इतनी ताकत के बावजूद क्या यह चुनाव जीत पाती है.‌

Related Articles

Back to top button