Select your Language: हिन्दी
Indiaराजनैतिक

अदनान को लेकर दिग्विजय सिंह बोले- जिनके पिता ने हमारे खिलाफ बरसाये थे बम, सरकार ने उन्हे पद्मश्री दे दिया

अदनान को लेकर दिग्विजय सिंह बोले- जिनके पिता ने हमारे खिलाफ बरसाये थे बम, सरकार ने उन्हे पद्मश्री दे दिया

इंदौर: पाकिस्तानी मूल के भारतीय गायक अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार के लिये चुने जाने को लेकर दिग्विजय सिंह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने कहा कि इस कलाकार के पिता ने पाकिस्तानी वायु सेना के लड़ाकू पायलट के रूप में भारत के खिलाफ बम बरसाये थे.

एक सामाजिक संगठन की आयोजित “संविधान बचाओ, देश बचाओ” रैली में दिग्विजय सिंह ने कहा, “पाकिस्तान से भारत आये सामी चूंकि एक कलाकार हैं. इसलिये मैंने ही उन्हें भारतीय नागरिकता देने के लिये भारत सरकार से उनके मामले की सिफारिश की थी. उन्हें मोदी सरकार के राज में ही भारत की नागरिकता मिली है.” उन्होंने कहा, “मैंने सामी को पद्मश्री से सम्मानित किये जाने के लिये भारत सरकार से कोई सिफारिश नहीं की थी. इन्हीं सामी के पिता ने पाकिस्तान वायु सेना का जंगी जहाज उड़ाते हुए हमारे खिलाफ बम गिराये थे.”

कांग्रेस नेता ने कहा, ”दूसरी ओर, भारतीय फौज की ओर से दुश्मन के खिलाफ लड़ चुके असम के सनाउल्लाह को नागरिकता के दस्तावेज नहीं दिखाने की वजह से डिटेंशन सेंटर में भेज दिया गया था. यह है मोदी सरकार का नागरिकता कानून.” संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) जैसे मसलों को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए दिग्विजय ने कहा, “कोई व्यक्ति अपने कागज दिखाये, न दिखाये. लेकिन दिग्विजय सिंह अपने कागज नहीं दिखाने वाला. जो करना है, करो. आप (सरकार) हमसे कितने कागज मांगोगे. हमारे पास आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र, ड्राइविंग लायसेंस, पैन कार्ड और पासपोर्ट पहले से है.”

दिग्विजय ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा हाल ही में एक चुनावी रैली के दौरान सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों की आलोचना के बाद कथित तौर पर भड़काऊ नारे लगवाये जाने के मामले की ओर इशारा किया. इसके साथ ही, इस मामले को जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय के नजदीक सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों के समूह पर गोली चलाये जाने की सनसनीखेज घटना से जोड़ते हुए बीजेपी पर हमला किया.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा, “केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हमें क्रोनोलॉजी बतायी कि पहले सीएए आयेगा, फिर एनपीआर (राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर) आयेगा और इसके बाद एनआरसी आयेगी. उन्होंने कहा कि लेकिन हमें एक और क्रोनोलॉजी समझ आ रही है कि पहले भारत सरकार का एक मंत्री कहता है- गोली मारो. इसके बाद इन्हीं लोगों का एक व्यक्ति तमंचा लेकर आता है और दिल्ली पुलिस हाथ पर हाथ रखकर खड़ी दिखायी देती है. फिर यह व्यक्ति गोली चला देता है.” दिग्विजय ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के मंत्री की भड़काऊ नारेबाजी के ‘गंभीर’ मामले में चुनाव आयोग ने उन्हें उचित दंड नहीं दिया है.

Related Articles

Back to top button