Select your Language: हिन्दी
India

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर साधा निशाना पूछा – लोगो को रोजगार का न मिलना संयोग है या प्रयोग?

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर साधा निशाना पूछा - लोगो को रोजगार का न मिलना संयोग है या प्रयोग?

नई दिल्ली I दिल्ली विधानसभा चुनाव के प्रचार का आखिरी दौर चल रहा है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), आम आदमी पार्टी (AAP) और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है. मंगलवार को द्वारका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली की तो कांग्रेस की ओर से पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी संगम विहार पहुंचे.

संगम विहार में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने केजरीवाल और मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि रोजगारा का घटना संयोग है या प्रयोग है? 35 सालों में बेरोजगारी का संयोग है या प्रयोग है? इसका जवाब मोदी सरकार को देना चाहिए.

प्रियंका गांधी ने केजरीवाल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार ने दिल्ली में तमाम अस्पताल और स्कूल बनाए हैं. दिल्ली की सूरत शीला दीक्षित के समय से बदली है. दूसरे की मेहनत पर पुताई करना एक बात होती है. अब लीपापोती करके उनके काम का क्रेडिट केजरीवाल ले रहे हैं. जनता को ये समझना चाहिए और ये जनता समझ भी रही है.

अब रेलवे बेचने की योजना बना रही है मोदी सरकार

प्रियंका गांधी ने कहा जो भी मोदी सरकार की आलोचना करता है, वो भ्रष्ट हो जाता है. मोदी सरकार ने एलआईसी, बीएसएनएल बेच दिया और अब रेलवे बेचने की योजना बना रही है. प्रियंका ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह कहते हैं कि हम दिल्ली को यूपी बना देंगे. मैं यूपी प्रभारी हूं और उसे जानती हूं. यूपी कभी सबसे सक्षम था, आज अपराध ही अपराध है. प्रियंका ने कहा कि दोनों पार्टियां सिर्फ पब्लिसिटी में तेज हैं.

बांटने की राजनीति करते हैं पीएम मोदीः राहुल गांधी

इस जनसभा में राहुल गांधी भी बीजेपी और AAP पर जमकर बरसे. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री को बेरोजगारी वाला हिंदुस्तान चाहिए. भाजपा चुनाव से पहले लोगों को घरों के हक देने के नाम पर वोट मांग रही है. ये काम वो पांच से पहले भी कर सकती थी, लेकिन नहीं किया क्योंकि चुनाव के बाद बीजेपी कुछ करने वाली नहीं है. यही हाल केजरीवाल का भी है. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री एक हिंदुस्तानी को दूसरे हिंदुस्तानी से बांटते हैं. वो सिर्फ एक-दूसरे के बीच नफरत बढ़ाते हैं.

Related Articles

Back to top button