Select your Language: हिन्दी
India

चुनाव आयोग ने दिल्ली के फाइनल मत प्रतिशत मे बताई देरी के वजह

चुनाव आयोग ने दिल्ली के फाइनल मत प्रतिशत मे बताई देरी के वजह

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 8 फरवरी को समाप्त हुए मतदान को लेकर आम आदमी पार्टी चुनाव आयोग पर हमलावर है। अब चुनाव आयोग ने आप के सवालों के जवाब देते हुए अंतिम वोटिंग प्रतिशत जारी कर दिया है। आयोग ने बताया कि दिल्ली में कुल 62.59 फीसदी मतदान हुआ जो लोकसभा चुनाव के मुकाबले 2 फीसदी ज्यादा रहा।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया, ‘सबसे अधिक 71.6 प्रतिशत मतदान बल्लीमारान विधानसभा क्षेत्र में दर्ज किया गया, जबकि सबसे कम मतदाता का मतदान 45.4 प्रतिशत दिल्ली छावनी में दर्ज किया गया। वोटिंग टर्नआउट डेटा रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत किया जाता है जो रात भर व्यस्त थे, फिर वे जांच में व्यस्त हो गए। इसमें थोड़ा समय लगा है लेकिन, डेटा एंट्री में, सटीकता सुनिश्चित करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है।’

AAP सांसद संजय सिंह द्वारा ईवीएम को लेकर उठाए गए सवाल पर दिल्ली चुनाव आयोग ने कहा- गाड़ी में रखी जा रही मशीनें इस्तेमाल नहीं की गईं थीं। इस्तेमाल की गईं मशीनें पहले ही स्ट्रॉन्ग रूम में भेजी जा चुकी थीं।

दरअसल शनिवार को शाम छह बजे तक 57.06 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया लेकिन वोटिंग समाप्त होने के 24 घंटे से भी ज्यादा का समय बीत जाने के बाद भी अंतिम वोट प्रतिशत का ऐलान नहीं हो सका था। आम आदमी पार्टी ने इसे लेकर सवाल उठाए थे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘पूरी तरह चौंकाने वाला” करार देते हुए रविवार को सवाल किया कि मतदान खत्म होने के कई घंटों बाद भी आयोग आकंड़े जारी क्यों नहीं कर रहा है? पूरी तरह चौंकाने वाला। चुनाव आयोग क्या कर रहा है? मतदान खत्म होने के कई घंटे के बाद भी वे मतदान प्रतिशत के आंकड़े क्यों जारी नहीं कर रहे हैं?’

Related Articles

Back to top button