Select your Language: हिन्दी
Maharashtra

महाराष्ट्र के हिंगोली मे चल रहा है बोगस डॉक्टरों का रैकेट

महाराष्ट्र राज्य में 60, हजार बंगाली,फर्जी डॉक्टर, महाराष्ट्र में केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री आयुष्यमान भारत योजना और राज्य सरकार की महात्मा ज्योतिबा फुले स्वास्थ्य योजना चल रही है।

महाराष्ट्र सरकार के पास अपने नागरिकों और ग्रामीण क्षेत्रों के स्वास्थ्य के लिए प्रत्येक जिल्हा,और तालुका, में अस्पताल की सुविधाएं उपलब्ध करवाए है। और ग्रामीण भाग में पी एस सी सेंटर उपलब्ध करवाए गए हैं। लेकिन इन सुविधाओं का लाभ नहीं होने की वजह से ग्रामीण भाग में नागरिक,बंगाली,चंदसी और बोगस डॉक्टरों के पास इलाज करवा रहे है। और यह बोगस डॉक्टर यहां के नागरिकों के जिंदगियों से खेल रहे हैं। इन नागरिकों को हायडोस मेडिसिन दिया जा रहा है। और उन्हें मेडिसिन का आदि बनाया जा रहा है। और इनके पास किसी प्रकार की डिग्री नहीं है

हमारे IHRC24X7NEWS चैनल के प्रतिनिधि, शेख रहीम.और इंटरनेशनल हुमन राइट्स काउंसिल के मराठवाड़ा अध्यक्ष, वाजेद पठान. उन्होंने हिंगोली के वसमत तालुका के हाट्टा गांव में पी एस सी केंद्र का दौरा किया। और वहां के रहेवासी पुष्पक देशमुख, अंबादास उजवनकर, स्वप्निल देशमुख और,वहां के स्वास्थ्य अधिकारियों से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि हमें इन बोगस डॉक्टर की कोई जानकारी नहीं है।और हमें जिल्हा स्वास्थ्य अधिकारी और तालुका स्वास्थ्य अधिकारी ने कोई आदेश नहीं दिए है। और उन्होंने यह भी बताया है। की एक मर्तबा हमने उन डॉक्टरों के कागजात जमा करवाए थे। 6 महीने पहले ।उन्होंने 18 महीने के कार्य में एक भी बंगाली फर्जी डॉक्टर पर कार्यवाही नहीं की है। उनके पी एस सी सेंटर, के कुछ डिस्टेंपर बंगाली बोगस डॉक्टर है। और उस बोगस बंगाली डॉक्टर को इन अधिकारियों की कोई तकलीफ नहीं होने की वजह से, वह बिंदास,जनता की लूट कर रहे है। और नशा का आदि बना रहा है।

इससे यह प्रश्न निर्माण होता है। कि इन फर्जी डॉक्टरों पर इन अधिकारियों का आशीर्वाद है। 2 कोटी रुपयों का पी एस सी सेंटर हट्टा गांव में है। और वहां पर सिर्फ दो पलंग मौजूद है। 40 गांव का पी एस सी सेंटर है। यह। बहुत ही दु:खदायक घटनाएं ग्रामीण भागों में हो रही है। और इनके स्वास्थ्य के साथ छेड़छाड़ हो रही है। ऐसी घटनाओं को नजर में रखते हुए मराठवाड़ा के अध्यक्ष आरोग्य मंत्री से मुलाकात करेंगे।

Related Articles

Back to top button