Select your Language: हिन्दी
Education

अब तत्काल ट्रेन टिकट बुक करने के लिए नहीं करनी पड़ेगी मशक्कत, रेलवे ने बदला ये नियम

अब तत्काल ट्रेन टिकट बुक करने के लिए नहीं करनी पड़ेगी मशक्कत, रेलवे ने बदला ये नियम

नई दिल्ली. अब लास्ट मिनट में आपको तत्काल ट्रेन टिकट बुक करने के लिए कोई चिंता नहीं करनी होगी. अब तत्काल टिकट बुकिंग की चिंता दूर हो रही है. पैसेंजर फ्रेंडली कदम उठाते हुए रेलवे ने उन सभी गैरकानूनी सॉफ्टवेयर और 60 एजेंट्स पर कड़ी कार्रवाई की है, जो पहले से ही तत्काल टिकट्स को ब्लॉक कर लेते थे. रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के डायरेक्टर जनरल अरुण कुमार ने कहा कि एक विशेष ऑपरेशन के तहत उन सभी पर कार्रवाई की गई है जो तत्काल ट्रेन टिकटों को ब्लॉक कर लेते थे. इसके बाद अब तत्काल टिकटों की संख्या में इजाफा होगा और टिकट बुक करने के लिए भी पर्याप्त समय मिल सकेगा. पहले कुछ मिनटों में ही तत्काल टिकट खत्म हो जाता था.

सॉफ्टवेयर्स की मदद से जल्द बुक हो जाता था टिकट

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, ANMS, MAC और Jaguar जैसे गैरकानूनी सॉफ्टवेयर्स की मदद से IRCTC का लॉगिन कैप्चा, बुकिंग कैप्चा और बैंक OTP तक को बाईपास कर लिया जाता था. इसके बाद ​तत्काल टिकटों की बुकिंग की जाती थी. आम यूजर्स को इन सभी प्रक्रियाओं से गुजरने की वजह से उन्हें टिकट बुक करने के लिए उपलब्धता नहीं मिल पाती थी. आम यूजर्स के लिए एक तत्काल टिकट बुक करने में करीब 2.55 मिनट लगते हैं, जबकि इन सॉफ्वेयर्स के जरिए तत्काल टिकट बुक करने के लिए महज 1.48 मिनट ही लगता है.

आम लोग नहीं बुक कर पाते थे तत्काल टिकटरेलवे के नियमों के मुताबिक, कोई भी एजेंट गैरकानूनी रूप से रेलवे टिकट नहीं बुक कर सकता है. बीते दो महीनों में RPF अधिकारियों ने ऐसे करीब 60 गैरकानूनी एजेंट्स को पर कार्रवाई की है जो इन सॉफ्टवेयर्स की मदद से टिकट बुक करते थे. इनकी वजह से आम लोगों को तत्काल टिकट बुक करने के लिए बड़े परेशानियों का सामना करना पड़ता था.

हर साल कर लेते थे 100 करोड़ रुपये की कमाई

अरुण कुमार ने आज मीडिया से बातचीत में कहा कि अब एक भी टिकट गैरकानूनी सॉफ्टवेयर की मदद से नहीं बुक हो रहा है. संबंधित अधिकारियों ने इससे जुड़ी सभी परेशानियों को खत्म कर दिया है. इन सॉफ्टवेयर्स के टॉप ऑपरेटर्स को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. इन सॉफ्टवेयर्स की मदद से सालाना 50 से 100 करोड़ रुपये का कारोबार किया जाता था. उन्होंने कहा कि कोलकाता के एक व्यक्ति सहित सात लोगों को आठ फरवरी को मुंबई से गिरफ्तार किया गया. एक अन्य व्यक्ति शमशेर को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया.

Related Articles

Back to top button