Select your Language: हिन्दी
Health

बदलते मौसम मे वायरल बुखार का खतरा, जाने प्रमुख लक्षण एवं घरेलू उपचार

बदलते मौसम मे वायरल बुखार का खतरा, जाने प्रमुख लक्षण एवं घरेलू उपचार

नई दिल्ली। सर्दी का असर अब कम हो रहा है और मौसम में बदलाव साफ दिखने लगा है. मौसम में बदलाव के दिनों में सबसे अधिक सावधानी बरतने की जरूरत होती है. इन दिनों में थोड़ी सी भी लापरवाही की वजह से आपकी तबीयत खराब हो सकती है. ऐसा आजकल देखने को भी मिल रहा है. बच्चे और बुजुर्ग खासकर बीमार पड़ रहे हैं. यहां हम आपको कुछ ऐसे उपाए बता रहे हैं जिसे ध्यान में रखकर आप बीमार पड़ने से बच सकते हैं और साथ ही जानें वायरल फीवर के क्या हैं लक्षण.

सावधानी बरतें

मौसम में बदलाव की वजह से वायरल, इंफेक्शन, खांसी-जुकाम जैसी समस्याएं आम हो जाती हैं. इनसे पीड़ित होने पर लोग अमूमन तुरंत दवा ले लेते हैं लेकिन इस आदत से बचना चाहिए. सबसे पहले कुछ घरेलू उपाए करने चाहिए और ये उपाए काफी कारगर होते हैं जिससे आप वायरल और खांसी-जुकाम से छुटकारा पा सकते हैं.

ये हैं वायरल फीवर के लक्षण

वायरल से पीड़ित होने पर शरीर में कुछ खास तरह के लक्षण दिखते हैं. इन लक्षणों में- गले में दर्द, खांसी, सिर दर्द, थकान, जोड़ों में दर्द के साथ ही उल्टी और दस्त होना, आंखों का लाल होना और माथे का बहुत तेज गर्म होना शामिल है. वायरल फीवर बच्चों और बुजुर्गों में काफी तेजी से फैलता है इसलिए इसकी रोकथाम जरूरी होती है.

तुरंत दवा लेने से बचें

वायरल फीवर होने पर तुरंत दवा नहीं लेनी चाहिए. खाने के साथ-साथ तरल पदार्थ के सेवन की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए. इसमें- पानी, सूप, चाय, नारियल पानी और दाल का पानी पीने से काफी राहत मिलती है. बहुत जरूरत हो तो डॉक्टर से जरूर दिखाएं.

घरेलू उपाए भी असरदार

वायरल बुखार से पीड़ित होने पर दवा की जगह कुछ घरेलू उपाए भी बेहद कारगर होते हैं. इन समस्याओं को खत्म करने में शहद, अदरक और हल्दी काफी असरदार हैं. अदरक स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है. इसमें एंटी फ्लेमेबल, एंटीऑक्सिडेंट और ऐसे कई गुण होते हैं जिससे वायरल बुखार को खत्म करने में मदद मिलती है. अदरक, हल्दी और शहद को मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से वायरल बुखार में काफी राहत मिलती है.

Related Articles

Back to top button