Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

Corona virus क्या है? जानिए-इसके लक्षण और बचाव के तरीके, अब भारत भी है चपेट में

नई दिल्ली: कोरोना वायरस मौजूदा समय में महामारी का रूप ले चुका है. अलग अलग देशों में लगातार इस रोग से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है. चीन के वुहान शहर से फैली यह बीमारी दुनिया भर में तबाही मचा रही है. अब तक इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या तीन हजार के संख्या पार हो चुकी है वहीं 89 हजार से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हैं. लगातार बढ़ रही मौत के कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चिंता जताई है. WHO इस रोग से बचाव के उपाय और संक्रमण के लक्षण के बारे में लगातार लोगों को जागरुक कर रहा है.

भारत में भी इस बीमारी को लेकर चिंताए बढ़ गई हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी कि भारत में अबतक पांच मामले सामने आ चुके हैं. आइए जानते हैं कि इस वायरस के बारे में, कैसे फैलता है कोरोना वायरस और कैसे बचा जा सकता है इससे.

क्या है कोरोना वायरस

कहा जा रहा है कि यह वायरस जानवरों से इंसानों में फैलता है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार, यह वाइरस सी-फूड से जुड़ा है और इसकी शुरुआत चाइना के हुवेई प्रांत के वुहान शहर के एक सी-फूड बाजार से ही हुई मानी जा रही है. डब्ल्यूएचओ ने इस बात का अंदेशा भी जताया है कि यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भी फैल सकता है.

कहां से फैलना शुरू हुआ वायरस

यह वायरस सबसे पहले चाइना के वुहान शहर से फैलना शुरू हुआ और इसके बाद इससे पीड़ित मरीज थाईलैंड, सिंगापुर, जापान में भी मिल रहे हैं. हाल ही इंग्लैंड में भी एक फैमिली के इस वायरस की चपेट में आने की जानकारी सामने आई है.

चीन में 630 से ज्यादा लोग संक्रमित

चीन ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अभूतपूर्व कदम उठाते हुए वुहान सहित पांच शहरों को सील कर दिया. देशभर में इस विषाणु से 630 से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 17 लोगों की मौत हो चुकी है. चीनी नए साल के पहले सड़कों पर भीड़भाड़ बढ़ने के मद्देनजर गाड़ियों, ट्रेनों, विमानों समेत आवागमन के विभिन्न माध्यमों को रोक दिया गया है. इन शहरों में तकरीबन दो करोड़ लोग रहते हैं.

चीनी अधिकारियों ने गुरुवार शाम हुबेई प्रांत में पांच शहरों – हुगांग, एझाओ, झिजियांग, क्विनजिआंग और वुहान में सार्वनजिक परिवहन को रोकने की घोषणा की. देशभर में विषाणु की वजह से 17 लोगों की मौत हो चुकी है. जितनी भी मौतें हुईं हैं, वो वुहान और आसपास के इलाके में हुई है. मृतकों की औसत उम्र 73 साल है. मरने वालों में सबसे उम्रदराज शख्स 89 साल का था जबकि सबसे कम उम्र के लिहाज से 48 साल के व्यक्ति की मौत हुई. कुल मिलाकर देशभर में 631 मामले सामने आ चुके हैं.

भारत के लिए चिंता, एयरपोर्ट पर जांच जारी

भारत के लिहाज से भी चिंता की वजह हैं क्योंकि करीब 700 भारतीय छात्र वुहान और आसपास के इलाके में रहते हैं. इन छात्रों में ज्यादातर चीनी विश्वविद्यालयों में चिकित्सा की पढ़ाई करते हैं. विषाणु के प्रसार को रोकने के लिए बीजिंग में प्रशासन ने अनिश्चितकाल के लिए बड़े कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है. वहीं भारत में एविएशन मिनिस्ट्री ने दिल्ली, मुंबई, कोलकाता एयरपोर्ट के बाद बेंगलुरु, हैदराबाद और कोचीन एयरपोर्ट पर चीन और हांगकांग से उड़ान भरने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था करने को कहा है.

क्या है लक्षण

जिसे वायरस का अटैक हुआ हो उसे बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खरास जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. बचाव को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने भी ट्वीट किया है. ट्वीट में कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को कम करने के उपाय बताए गए हैं.

Related Articles

Back to top button