Select your Language: हिन्दी
India

कोरोना वायरस से ग्रसित ठीक हुआ दिल्ली का पहला मरीज

कोरोना वायरस से ग्रसित ठीक हुआ दिल्ली का पहला मरीज

नई दिल्ली: चीन में महामारी बना कोरोना वायरस दुनिया भर में 137 देशों में फैल चुका है। भारत में भी यह कई राज्यों में फैल चुका है। दिल्ली में कई लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। उनका समुचित इलाज किया जा रहा है। दिल्ली में कोरोना वायरस का पहला मरीज जो अब ठीक हो गया है। 45 वर्षीय बिजनेसमैन ने इस वायरस को झलने के बारे में अपना अनुभव शेयर किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। अधिकांश स्वस्थ व्यक्तियों के लिए उपचार बहुत आसान है।

एक खबर के मुबातिक इस व्यक्ति दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में सुविधाओं की तारीफ की जहां वह पिछले दो हफ्तों से इलाज कर रहे थे। उन्होंने कहा कि डरने की कोई जरूरत नहीं है। यह सामान्य फ्लू की तरह है। अगर कोई स्वस्थ व्यक्ति डॉक्टर के पास पहुंचता है, तो हमारी हेल्थ सिस्टम ठीक है। दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में से एक है। आईसोलेशन वार्ड बिना सूर्य रोशनी के टू बाय-टू सेल की तरह नहीं है। दिल्ली में रविवार को दो मरीजों को छोड़ दिया गयाऔर उन्हें 14 दिनों के लिए घर पर रहने की सलाह दी गई थी। अपने अनुभव को बताते हुए कहा कि अस्पताल में डॉक्टरों की टीम बहुत आश्वस्त थी।

ऐसे पता चला वह कोरोना वायरस से संक्रमित है

उन्होंने बताया कि मैं 25 फरवरी को यूरोप से लौटा और मुझे अगले दिन बुखार हो गया। मैं एक डॉक्टर के पास गया जिसने मुझे बताया कि यह गले का संक्रमण है। उसने मुझे तीन दिनों तक दवा दी। मैं 28 वें दिन ठीक हो गया लेकिन मुझे फिर से 29 वें दिन बुखार हो गया। मैं राम मनोहर लोहिया अस्पताल गया। एक मार्च को मेरा कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया।

‘यह क्यूरेबल है’

ठीक हुए व्यक्ति ने बताया कि ईमानदारी से, यह केवल उस समय तक मुश्किल था जब तक उन्होंने मुझे बताया नहीं था कि मैं कोरोना वायरस पॉजिटिव था। लेकिन जब डॉक्टरों की एक टीम मुझे अगले दिन सफदरजंग में देखने के लिए आई, जहां मुझे शिफ्ट कर दिया गया था, तो उन्होंने मुझे यह कहते हुए बहुत सहज बना दिया कि आप ठीक हो जाएंगे, यह क्यूरेबल है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर ने मुझे बताया कि आप एक स्वस्थ व्यक्ति हैं और यह सिर्फ सर्दी और खांसी है और यह जल्द ठीक हो जाएगा। यह सामान्य सर्दी और खांसी की तुलना में थोड़ा अधिक समय लेता है।

काफी बेहतर सुविधाएं हैं सफदरजंग में

उन्होंने कहा कि मैं एक डॉक्टर नहीं हूं, लेकिन यह सामान्य सर्दी और खांसी से थोड़ा अलग था। मैं सफदरजंग के एक आइसोलेशन वार्ड में था, जिसे भारत सरकार ने इसके लिए बनाया था। सुविधाएं बहुत अच्छी थीं। अब तक मैंने जो प्राइवेट अस्पतालों में देखा है उन सबसे यहां अच्छी व्यवस्था थी। मेरे पास बाथरूम के साथ एक प्राइवेट कमरा था।

ठीक हुए दो मरीज

दिल्ली का रहने वाला एक व्यक्ति जिसकी मौत हो गई कोरोनो वायरस के 7 पॉजिटिव व्यक्तियों में से एक था। दिल्ली हेल्थ विभाग ने एक बयान में कहा कि इनमें से दो व्यक्ति, जो COVID-19 के लिए टेस्ट में पॉजिटिव आए थे और उन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई।

देश में अब तक 110 लोग पीड़ित

देश भर में कोरोनो वायरस के मामलों की संख्या रविवार को बढ़कर 110 हो गई जबकि महाराष्ट्र में केरल के बाद सबसे ज्यादा मामले सामने आए। दुनिया भर में अब तक 6000 से अधिक लोगों की जान चल गई।

Related Articles

Back to top button