Select your Language: हिन्दी
India

क्या पालतू जानवरों को भी है इंसानों की तरह कोरोना वायरस से खतरा, जानिए पूरी सच्चाई

क्या पालतू जानवरों को भी है इंसानों की तरह कोरोना वायरस से खतरा, जानिए पूरी सच्चाई

नई दिल्ली : कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में फैल चुका है। चीन के वुहान से फैले इस खतरनाक और जानलेवा वायरस का प्रकोप भारत में भी सर चढ़ कर बोलने लगा है। भारत में अब तक कुल 7 लोगों की इस वायरस के कारण मौत हो चुकी है। इसी क्रम में लोगों के बीच इस वायरस को लेकर तरह-तरह के अफवाहें भी फैल रही है। लोगों का मानना है कि इंसानों की तरह जानवरों में ये वायरस उतनी ही तेजी से फैल सकता है। हालांकि सच्चाई कुछ और ही है।

आज हम आपको इसी सच्चाई से रुबरु कराएंगे कि क्या जानवरों और आपके घर में मौजूद पेट्स से भी कोरोना वायरस हो सकता है। इस वायरस के लक्षण बाकी मौसमी बीमारियों के जैसे ही होते हैं लेकिन इसमें इतना फर्क है कि इस वायरस के कारण सांस लेने में मरीज को काफी तकलीफों सामना करना पड़ता है। इस वायरस के चलते लोगों में ये भी वहम है कि उनके पालती जानवरों को भी इसका संक्रमण ना हो जाए। जानते हैं क्या है इसकी पूरी सच्चाई।

एक्सपर्ट्स का है मानना

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के मुताबिक अब तक इस बात के कोई सबूत नहीं मिले हैं कि घर में मोजूद पालतू जानवरों जैसे बिल्ली, कुत्तों को कोरोना वायरस का खतरा हो सकता है। शुरुआती दौर में शोधकर्ताओं ने ये कहा था कि चमगादड़ों से इस वायरस की उत्पत्ति हुई है हालांकि बाद में इसकी कोई पुष्टि नहीं हो पाई थी। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इंसानों में कोरोना वायरस का एक वंशानुगत संकेत पाया जाता है और दूसरे प्रजातियों में इसका स्थानांतरण असंभव है या तो ये सदियों बाद या कई सालों के बाद ऐसा हो सकता है।

हांग कांग के इस केस ने फैलाई दहशत

हाल ही में हांग कांग में एक कुत्ते को कोरोना वायरस का पॉजीटिव पाया गया और कहा गया कि इसी के कारण पूरी दुनिया में ये वायरस फैल रहा है। साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक इसे सरकारी सुविधाओं के तहत क्वारंटाइन कर दिया गया ताकि दुनिया को इस वायरस से बचाया जा सके। बाद में 12 मार्च को फिर से इसका टेस्ट कराया गया लेकिन ये इस बार नेगेटिव आया और इसके बाद इसे 14 मार्च को इसके मालिक के पास भेज दिया गया।

ठोस वजह सामने नहीं आई

इसका मालिक जे कि कोविड-19 से पूरी तरह स्वस्थ हो चुका है ने बताया कि उस कुत्ते की 16 मार्च को मौत हो गई। लेकिन यहां गौर करने वाली बात ये है कि उसने कुत्ते की अटॉप्सी करवाने की इजाजत नहीं दी जिसके बाद से अब तक उसके मरने की ठोस वजह सामने नहीं आ पाई है। इसी प्रकार से हांग कांग में तीन कु्तों को क्वारंटाइन रखा गया था लेकिन तीनों कुत्तों की टेस्ट नेगेटिव आई है।

क्या कहती है ये रिपोर्ट

सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक कुत्ते कोरोना वायरस से पॉजीटिव पाए जा सकते हैं लेकिन ये इससे संक्रमित नहीं हो सकते हैं और ना ही इससे बीमार हो सकते हैं। इंसानों से जानवरों में फैलने की कोई थ्योरी भी अभी तक सामने नहीं आई है। हांग कांग का केस एक अपवाद है लेकिन अभी भी इस संबंध में कई गहरे रिसर्च की आवश्यकता है।

WHO देता है ये सलाह

कुत्तों में कैनिन कोरोना वायरस नामक बीमारी पाई जा सकती है जो कोविड-19 से थोड़ी अलग है। इसीलिए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ये सलाह देता है कि जब कभी भी आप अपने पालतू जानवरों को छुएं तो अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से साफ करें ताकि इस तरह के बैक्टीरिया या वायरस आप तक ना पहुंच सके।

Related Articles

Back to top button