Select your Language: हिन्दी
स्वास्थ्य

कोरोना वायरस के संक्रमण का बुजुर्गों में है ज्यादा खतरा , इस तरह से कर सकते है बचाव

कोरोना वायरस के संक्रमण का बुजुर्गों में है ज्यादा खतरा , इस तरह से कर सकते है बचाव

नई दिल्ली: स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण का बुजुर्गों को सर्वाधिक खतरा होने के मद्देनजर इससे बचाव के लिये परामर्श जारी किये हैं। मंत्रालय द्वारा सोमवार को दी गयी जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक सामने आये मौत के मामलों में उम्रदराज लोगों की काफी अधिक संख्या को देखते हुये बुजुर्गों के लिये परामर्श जारी किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस वायरस के संक्रमण से बचने के लिये बुजुर्गों को क्या करना चाहिये और क्या नहीं करना चाहिये।

बुजुर्गों में संक्रमण का खतरा ज्यादा

कोरोना वायरस के संक्रमण का विश्वव्यापी दायरा बढ़ने के मद्देनजर मंत्रालय द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि बुजुर्गों में उम्र की अधिकता के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता तुलनात्मक रूप से कम होने की वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। ये हैं परामर्श जो स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर दिए हैं ।

1. परामर्श में उम्रदराज लोगों को संक्रमण से बचाव के सभी संभव उपाय अपनाते हुये घर पर ही नियमित रूप से व्यायाम करने की सलाह दी गयी है।

2.संक्रमण का खतरा कम करने के लिये उन्हें नियमित अंतराल पर साबुन से हाथ और चेहरा धोने को कहा गया है।

3. घर से बाहर नहीं निकलने के परामर्श का सख्ती से पालन करते हुये बुजुर्गों को बाहर से आने वाले लागों से नहीं मिलने को कहा गया है।

4.अगर आगंतुकों से मिलना अनिवार्य है तो कम से कम एक मीटर की दूरी बना कर मिलना सुरक्षित होगा।

5. बुजुर्गों को घर में बना ताजा पोषण युक्त आहार लेने के अलावा गर्म खाना खाने, बार बार पानी पीने और नियमित तौर पर ताजे फलों का रस पीने की बात भी कही गयी है।

6. उम्रदराज लोगों से पहले से चल रही दवाओं का नियमित रूप से सेवन करने और मोतियाबिंद, घुटना प्रत्यारोपण जैसी शल्य चिकित्सा को फिलहाल टालने का परामर्श भी शामिल ।

7. बुजुर्गों को बुखार, जुकाम या सांस लेने में तकलीफ की समस्या होने पर तत्काल निकटतम चिकित्सा सेवा का लाभ लेने की जरूरत है।7

8. बुजुर्गों को खांसी या छींक आने पर चेहरे को सीधे हाथों से न ढंकने की सलाह देते हुये जुकाम, खांसी या बुखार से पीड़ित लोगों के पास नहीं जाने को को भी कहा गया है।

9.बुजुर्गों से किसी मर्ज की खुद दवा लेने से बचने और नियमित स्वास्थ्य जांच के लिये अस्पताल जाने के बजाय ऑनलाइन चिकित्सा सेवा (टेलीमेडिसिन) का लाभ उठाकर चिकित्सा परामर्श लेने का सुझाव।

10.पार्क, बाजार और धार्मिक स्थलों जैसे भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचते हुये अत्यंत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर जाने का परामर्श।

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति को देखते हुये जारी देशव्यापी बंद (लॉकडाउन) के दौरान मंत्रालय द्वारा लोगों को समय समय पर परामर्श जारी किये जा रहे हैं। बुजुर्गों में इस वायरस के संक्रमण के ज्यादा खतरे को देखते हुये मंत्रालय ने उम्रदराज लोगों के लिये अलग से परामर्श जारी किये है।

Related Articles

Back to top button