राष्ट्रीय

बुलंदशहर साधू कांड पर शिवसेना और योगी आमने सामने

बुलंदशहर साधू कांड पर शिवसेना और योगी आमने सामने

लखनऊ I महाराष्ट्र के पालघर और यूपी के बुलंदशहर में हुई संतों की हत्या के मामले पर अब राजनीति शुरू हो गई है। महाराष्ट्र में हुई घटना को लेकर सीएम योगी पर संप्रदाय की राजनीति करने का आरोप लगाने के वाली शिवसेना को योगी ने खुद जवाब दिया है।

मंगलवार को किए गए शिवसेना नेता संजय राउत के ट्वीट पर जवाब देते हुए योगी आदित्यनाथ ने उन्हें महाराष्ट्र संभालने की नसीहत दी है। सीएम योगी के इस ट्वीट के बाद ट्विटर पर कई घंटे तक योगी हैं तो न्याय है का हैशटैग ट्रेंड करता रहा। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर पालघर की घटना को सांप्रदायिक बनाने का आरोप लगाया था। इस ट्वीट पर जवाब देते हुए यूपी के मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किए।

निर्मोही अखाड़े के थे साधु, इसलिए किया फोन: योगी

सीएम योगी ने राउत के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा,’संजय राउत जी, संतो की बर्बर हत्या पर चिंता करना राजनीति लगती है? उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री जी को फोन किया क्योंकि पालघर के साधु निर्मोही अखाड़ा से संबंधित थे। सोचिये, राजनीति कौन कर रहा है?’

चंद घंटे में ही गिरफ्तार किया गया आरोपी: योगी

वहीं बुलंदशहर कांड पर हुई कार्रवाई की जानकारी देते हुए सीएम योगी के कार्यालय ने लिखा, CM योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी में कानून का राज है। यहां कानून तोड़ने वालों से सख्ती से निपटा जाता है। बुलंदशहर की घटना में त्वरित कार्रवाई हुई और चंद घंटों के भीतर ही आरोपी को गिरफ्तार किया गया। महाराष्ट्र संभालें, यूपी की चिंता न करें।’

उद्धव ने की योगी से चर्चा

इससे पहले संजय राउत ने अपने एक ट्वीट में बताया था कि बुलंदशहर में हुई घटना के मुद्दे पर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की थी। इसके बाद राउत ने बुलंदशहर की घटना पर सवाल उठाते हुए लिखा, ‘भयानक! बुलंदशहर, यूपी के एक मंदिर में दो साधुओं की हत्या, लेकिन मैं सभी से अपील करता हूं कि वे इसे सांप्रदायिक न बनाएं, जिस तरह से कुछ लोगों ने पालघर मामले में करने की कोशिश की।’

Related Articles

Back to top button