Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

कोरोना पर कांग्रेस करेगी नई मुहिम की शुरुआत, देश-विदेश के विचारकों से बातचीत करेंगे राहुल गांधी

कोरोना पर कांग्रेस करेगी नई मुहिम की शुरुआत, देश-विदेश के विचारकों से बातचीत करेंगे राहुल गांधी

नई दिल्ली I कोरोना महामारी को लेकर कांग्रेस पार्टी गुरुवार से एक नई मुहिम शुरू कर रही है. इसके तहत पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कोरोना वायरस महामारी पर दुनिया भर के प्रमुख विचारकों के साथ बातचीत करेंगे. राहुल गांधी की ये संवाद श्रृंखला गुरुवार को रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर डॉ रघुराम राजन के साथ बातचीत से शुरू होगी.

राहुल गांधी और रघुराम राजन के बीच बातचीत का प्रसारण कांग्रेस के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर गुरुवार को सुबह 9 होगा. यह इस तरह की पहली बातचीत होगी और पार्टी हफ्ते में कम से कम दो बार इसी तरह के आयोजन पर विचार कर रही है.

पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने इसे लेकर एक ट्वीट किया है. रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि कोरोना संकट गहराता जा रहा है . ऐसे में आगे के सफर के लिए राहुल गांधी ने चर्चाओं की एक पहल की है. गुरुवार सुबह 9 बजे कांग्रेस के सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर रघुराम राजन से राहुल गांधी की बातचीत देखिए.

सुरजेवाला ने इसके साथ कि इस बातचीत के वीडियो के कुछ हिस्से को भी ट्वीट किया है जिसमें राहुल गांधी रघुराम राजन से सवाल पूछते नजर आ रहे हैं. राहुल गांधी और रघुराम राजन कोरोना महामारी से भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर पर बात करेंगे .गरीबों की किस तरह से मदद की जाए, वे इसपर भी चर्चा करेंगे.

कांग्रेस पार्टी के सूत्रों ने बताया कि आने वाले हफ्तों में राहुल गांधी कोरोना महामारी के मुद्दों पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों से बात करेंगे. बता दें कि कोरोना को लेकर राहुल गांधी लगातार सक्रिय हैं. हाल ही में उन्होंने मोदी सरकार से लॉकडाउन के बाद का प्लान पूछा था. राहुल कोरोना की टेस्टिंग और अर्थव्यवस्था को लेकर सुझाव देने के मामले में सक्रिय रहे हैं.

राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस पार्टी भी कोरोना लॉकडाउन पर सरकार पर निशाना साधती रही है. हाल ही में कांग्रेस ने लॉकडाउन किए जाने पर कहा है कि बिना सोचे-समझे और बिना योजना के फैसला लेने से नुकसान सिर्फ मौद्रिक नहीं होता है.

कांग्रेस ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि नोटबंदी की तरह लॉकडाउन से भारत का काफी नुकसान हुआ है. कांग्रेस ने कहा है कि 14 करोड़ से अधिक लोग अपनी नौकरी खो चुके हैं. आने वाले हफ्तों में लाखों के नौकरी जाने की आशंका है, क्या भाजपा सरकार के पास उनकी मदद करने की योजना है?

Related Articles

Back to top button