Select your Language: हिन्दी
राजस्थान

राजस्थान के पाली मे कोरोना का 508 केस, 268 केस एक्टिव

पाली, राजस्थान

जिले में सोमवार को सायं तक 43 केस पाॅजिटिव आए है। अब तक कुल 508 केस पाॅजिटिव हो गए है। जिनमें से 268 केस एक्टिव है। सोमवार को 19 लोगों को अस्पताल से रिकवरी होने के बाद छूट्टी दे दी गई है। अब तक जिले में कुल 7 मरीजों की मृत्यु हुई है।

जिला कलक्टर अंश दीप ने प्रेस बिफ्रिंग में बताया कि सोमवार को 43 पाॅजिटिव केस आए है। जिनमें पाली शहर का 14, पाली ग्रामीण के 5, सोजत उपखण्ड़ का एक, देसूरी के 4, रानी में 3, मारवाड़ जंक्शन के 2, बाली के 3, रोहट का एक, जैतारण के 2, सुमेरपुर के 4 सैम्पल की रिपोर्ट पाॅजिटिव है। सोमवार को रिकवरी के बाद 19 लोगों को अस्पताल से छूट्टी दे दी गई है। अब तक कुल 233 व्यक्तियों को रिकवरी के बाद अस्पताल से छूट्टी दे दी गई। उन्होंने बताया कि जिले में सोमवार को 794 सैम्पल लिए गए है। अब तक कुल 11494 सैम्पल लिए जा चुके है जिनमें से 2227 की रिपोर्ट आना बाकी है। बकाया सैम्पल के लिए मेडिकल काॅलेज में सैम्पल की टेस्टिंग की संभावनाओं को प्रतिदिन एक हजार तक किया जा रहा है। हाईरिस्क जोन से आने वाले प्रवासियों के सैम्पलों पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पाली बांगड़ अस्पताल में 37, सोजत अस्पताल में 29 तथा कोविड़ केयर सेंटर में 189 मरीज भर्ती है।

उन्होंने बताया कि प्रवासी एवं विशेष श्रेणी के लोगों को गेहूं व चना देने के लिए सर्वे का कार्य चल रहा है। जिसमें राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में नाम नहीं होने वालें लोगों का सर्वे किया जा रहा है। आधार एवं जन आधार से आॅनलाईन सर्वे कार्यो में पाली जिला वर्तमान में प्रथम स्थान पर चल रहा है।

उन्होंने कहा कि लाॅक डाउन 5.0 लागू हो गया है। सभी जर्नल आर्थिक गतिविधियां शुरू कर दी गई है। जिले में अनलाॅक की स्थिति है। ट्रेन रेगूलर चालू हो गई है यह पाली, मारवाड़ जंक्शन, फालना व रानी स्टेशन पर रूकेगी। आने जाने वालों की उचित व्यवस्था की गई है एवं इनकी स्क्रीनिंग कर डेटाबेस तैयार किया जाएगा ताकि यात्री के आवागमन का ट्रेसिंग हो सके।

उन्होंने कहा कि लाॅक डाउन 5.0 में जिले में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा रात्री 9 से सुबह 5 बजे तक ही लागू है। कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को देखते हुए आवश्यक न होने पर लोग घरों से नहीं निकले। घर पर रहकर ही कार्य करने का प्रयास करें। संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए पूर्ण सतर्कता बरते हुए सरकार की गाइड लाइन का पालन करें।

Related Articles

Back to top button