Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

केंद्र सरकार ने कोरोना संकट के बीच बढ़ाई पेट्रोल-डीजल की कीमते

नई दिल्ली I देश में पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को 60 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई. यह बढ़ोतरी 82 दिनों के बाद की गई है, क्योंकि इससे पहले तेल कंपनियां हर दिन कीमतों का निर्धारण करती थीं. दिल्ली में पेट्रोल की नई दर 71.86 रुपये हो गई, जबकि शनिवार को एक लीटर की कीमत 71.26 रुपये थी. जबकि डीजल के दाम 69.39 रुपये से बढ़कर 69.99 रुपये हो गए हैं.

सरकारी तेल कंपनी के अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि पहले हर दिन के हिसाब से मूल्य निर्धारित होते थे, अब उसे फिर शुरू कर दिया गया है. तेल कंपनियां पहले नियमित तौर पर एटीएफ और एलपीजी कीमतों का निर्धारण करती थीं, लेकिन 16 मार्च से यह बंद था. लॉकडाउन के कारण पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं हो रही थी. इसका कारण यह था कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम काफी गिर गए हैं. सरकार ने इससे पार पाने के लिए पेट्रोल और डीजल की एक्साइज ड्यूटी पर प्रति लीटर 3 रुपये की वृद्धि की थी.

बीते 6 मई को सरकार ने पेट्रोल पर 10 रुपये और डीजल पर 13 रुपये एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई थी. हालांकि तेल कंपनियों ने इसका बोझ खरीदारों पर नहीं डाला क्योंकि पूरे देश में लॉकडाउन की वजह से खर्च की परेशानी बढ़ी हुई थी. अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में जो भारी गिरावट दर्ज हुई है, तेल कंपनियों ने एक्साइज ड्यूटी को इससे पाटने का फैसला किया था. तेल कंपनियों ने यही तरीका अल्ट्रा क्लीन बीएस-VI ईंधर पर भी अपनाया जिसमें 1 अप्रैल को इस पर 1 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गई थी.

Related Articles

Back to top button