Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

रूसी राष्ट्रपति पुतिन और मोदी के बीच फोन पर हुई लंबी वार्ता, जाने क्या है मायने

नई दिल्ली: जब पूरी दुनिया कोविड-19 की वैश्विक महामारी से एक बड़ी लड़ाई लड़ रही है ऐसे वक्त में भारत देश के भीतर इस पैनडेमिक से और अपनी सीमाओं पर पड़ोसी देशों की चालबाजियों से निपटने और उन्हे सटीक जवाब देने में कोई कसर नही छोड़ रहा है.

चीन के खिलाफ डिजीटल स्ट्राइक और हर फ्रंट पर उसे घेरकर उसकी आर्थिक कमर तोड़ने की रणनीति में जुटे भारत को दुनिया के बड़े और शक्तिशाली देशों को साथ मिलता जा रहा है. इसी कड़ी में गुरुवार को भारत के दूरदर्शी कूटनीतिक रणनीति को एक और सफलता मिली, जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन एक दूसरे से फोन पर लंबी बातचीत की.

दुनिया के दो शक्तिशाली देशों के इन लीडर्स नें भारत और रूस के परस्पर द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की. दोनों नेताओं ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के नकारात्मक परिणामों को दूर करने के लिए दोनों देशों द्वारा किए गए प्रभावी उपायों पर बातचीत की और इस वैश्विक महामारी से निपटने की भविष्य की रणनीति पर भी चर्चा की.

दोनों नेताओं की टेलीफोन पर बातचीत में इस बात पर भी सहमति बनी कि द्विपक्षीय संपर्क और परामर्शों की गति बनाए रखी जाएगी, जो इस साल के अंत में भारत में होने वाले वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के आयोजन मे काफी मददगार साबित होगा.

Related Articles

Back to top button