Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

Paytm जल्द ही रखेगी इंश्योरेंस सैक्टर मे कदम, 570 करोड़ रुपये में होगा इस कंपनी का अधिग्रहण

नई दिल्ली. मोबाइल वॉलेट​ बिजनेस और ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के बाद पेटीएम अब इंश्योरेंस बाजार में भी उतरने की तैयारी में है. पेटीएम और इसके संस्थापक विजय शेखर शर्मा, रहेजा क्यूबीई जनरल इंश्योरेंस कंपनी की 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेंगे. यह डील 570 करोड़ रुपये की होगी. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, अधिग्रहण के बाद इस इंश्योरेंस कंपनी में विजय शेखर शर्मा की कुल हिस्सेदारी 51 फीसदी होगी. जबकि, पेटीएम की पेरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस बाकी की हिस्सेदारी खरीदेगी. हालांकि, अभी इस डील को इंश्योरेंस रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) की मंजूरी मिलनी बाकी है.

एनबीएफसी लाइसेंस लेने की तैयारी में पेटीएम

एक रिपोर्ट में विजय शेखर शर्मा के हवाले से लिखा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक शुरू होने पर उनके पास वन97 कम्युनिकेशंस की स्टॉक्स थे, उसी की फाइनेंसिंग से वो इस अधिग्रहण में पूंजी लगा रहे हैं. सूत्रों के हवाले से इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है उनकी इस कंपनी ने कंपनी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) के लाइसेंस के लिए भी आवेदन किया है.

उनकी कंपनी अब ब्रॉडर फाइनेंशियल सर्विस बिजनेस तक अपनी पहुंचा बनाना चाहती है. हालांकि, अभी तक आरबीआई ने एनबीएफसी लाइसेंस की मंजूरी नहीं दी है. पेटीएम का कहना है कि एनबीएफसी लाइसेंस लेंडिंग ​वर्टिकल बिल्ड करने के प्लान का हिस्सा है.

इन दो कंपनियों का ज्वाइंट वेंचर है रहेजा क्यूबीई जनरल इंश्योरेंस

बता दें कि प्रिज़्म जॉन्सन और ऑस्ट्रेलिया की क्यूबीई इंश्योरेंस ग्रुप का ज्वाइंट वेंचर था. प्रिज़्म जॉन्सन बीएसई​ लिस्टेड कंपनी है और कंपनी में इसकी हिस्सेदारी 51 फीसदी की थी. अन्य 49 फीसदी की हिस्सेदारी क्यूबीई इंश्योरेंस ग्रुप के पास है. एक स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में प्रिज़्म जॉन्सन ने कहा कि वो अपनी हिस्सेदारी पेटीएम और उसके संस्थापक को 290 करोड़ रुपये में बचेगी.

लंबे समय से इंश्योरेंस बाजार में उतरना चाहती थी पेटीएम

पेटीएम एक लंबे समय से जनरल इंश्योरेंस बिजनेस में उतरना चाहती थी. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया था कि पेटीएम अपनी खुद की इंश्योरेंस वेंचर शुरू करना चाहती है और IRDAI से लाइसेंस के लिए अप्लाई करने पर विचार कर रही है. इसी साल कंपनी को इंश्योरेंस ब्रोकरेज का लाइसेंस प्राप्त करने में सफलता मिली है.

पेटीएम के अध्यक्ष अमित नय्यर ने कहा कि हमनें अधिग्रहण का रास्ता इसलिए चुना ताकि जनरल इंश्योरेंस के क्षेत्र में जल्दी उतर सकें. इससे हमें करीब 24 से 30 महीने बचाने में समय बचाने में मदद मिलेगी. रहेजा क्यूबीई के मौजूदा सीईओ पंकज अरोड़ा ही नय्यर के साथ मिलकर इस बिजनेस को हेड करेंगे. नय्यर फिलहाल पेटीएम के फाइनेंशियल सर्विस बिजनेस को हेड करते हैं.

Related Articles

Back to top button