Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

कश्मीर मे बीजेपी नेता और पिता-भाई के मर्डर पर पीएम मोदी ने फोन करके जताया दुख

श्रीनगर: उत्तर कश्मीर के बांदीपुरा में बुधवार रात आतंकवादियों ने बीजेपी नेता वसीम अहमद बारी, उनके पिता और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी. नेता की सुरक्षा में कथित लापरवाही के मामले में सात पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी नेता की हत्या के बारे में फोन पर जानकारी ली और उनके परिवार के प्रति सांत्वना व्यक्त की. केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने यह जानकारी दी. डॉ. जितेंद्र सिंह ने ट्वीट किया, ‘पीएम मोदी ने फोन पर वसीम बारी की हत्या के बारे में जानकारी ली है. उन्होंने वसीम के परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं भी व्यक्त कीं.’

वसीम बारी की हत्या पर बीजेपी नेताओं ने दुख जताया है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि वसीम बारी का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. उन्होंने कहा, ”हमने आज जम्मू कश्मीर के बांदीपोरा में शेख वसीम बारी, उनके पिता और भाई को खो दिया. यह पार्टी के लिए बहुत बड़ी क्षति है. मेरी गहरी संवेदना परिवार के साथ है. पूरी पार्टी शोक संतप्त परिवार के साथ खड़ी है. मैं विश्वास दिलाता हूं कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.”

वरिष्ठ बीजेपी नेता राम माधव ने ट्वीट किया, “युवा बीजेपी नेता वसीम बारी और उनके भाई की बांदीपोरा में हत्या से चकित और दुखी हूं. सुरक्षा कमांडो के बाद भी यह घटना घटी. परिवार के प्रति शोक संवेदना.”

विपक्ष ने भी की आलोचना

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी इस आतंकी हमले की निंदा की और वसीम की मौत पर दुख जताया. उमर ने ट्वीट किया, ‘बांदीपोरा में बीजेपी के पदाधिकारियों और उनके पिता पर जानलेवा आतंकी हमले के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. मैं इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं. इस मुश्किल समय में मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ हैं.’

र्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के अलावा बांदीपुरा के पूर्व विधायक उस्मान मजीद ने इस घटना पर खेद व्यक्त किया. बीजेपी नेता सुरिंदर अम्बरदार ने इस घटना की कड़ी निंदा की. कांग्रेस और पीडीपी ने भी घटना की कड़ी आलोचना की है.

कैसे हुई हत्या

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि आतंकवादियों ने बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष वसीम अहमद बारी की दुकान के बाहर रात करीब नौ बजे उन्हें गोली मार दी जिसमें उनकी मौत हो गयी. इस घटना में बारी के अलावा उनके भाई उमर और पिता बशीर अहमद की भी मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने साइलेंसर लगी रिवॉल्वर से गोली मारी. जिस जगह इस वारदात को अंजाम दिया गया वो जगह मुख्य थाने से महज 10 मीटर दूर है. उनकी सुरक्षा में सात सुरक्षाकर्मी रहते हैं लेकिन दुर्भाग्य से जब यह घटना घटी तब कोई भी कर्मी नहीं मौजूद थे. जम्मू कश्मीर पुलिस ने इस संबंध में कानून की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है जहां अभी जांच जारी है. वहीं वसीम की सुरक्षा में तैनात लोगों को पुलिस अधिनियम के तहत लापरवाही के लिए हिरासत में ले लिया गया है. क्षेत्र की घेराबंदी कर दी गई है और खोज जारी है.

Related Articles

Back to top button