Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

राजस्थान संकट: सचिन पायलट आज खोल सकते हैं अपने पत्ते, होंगे बीजेपी मे शामिल या बनाएँगे अलग मोर्चा ?

जयपुर: सचिन पायलट को लेकर कांग्रेस ने कड़ा रुख अख्तियार किया है. विधायक दल की बैठक में पायलट को राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री के पद से हटाए जाने का फैसला लिया गया. पार्टी ने उनके दो करीबियों विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्री पद से हटा दिया. कांग्रेस ने कहा कि पायलट बीजेपी की जाल में उलझ गए हैं. बीजेपी ने इसे कांग्रेस का आंतरिक कलह बताया है और पायलट से दरवाजे खुले होने की बात कही है.

1. अब क्या करेंगे पायलट? : सभी की नजरें सचिन पायलट के अगले कदम की तरफ है. इसकी घोषणा पायलट बुधवार को कर सकते हैं. उनके करीबी सूत्र बीजेपी में जाने की अटकलों को खारिज कर चुके हैं.

2. सचिन पायलट ने किए दो ट्वीट: कांग्रेस के सख्त रुख के बाद पायलट ने ट्वीट कर कहा कि सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं. इसके बाद शाम को उन्होंने एक और ट्वीट कर उनके समर्थन में आए लोगों का आभार जताया. अपने ट्वीट के अंत में उन्होंने अपने चिर परिचित अंदाज में लिखा, “राम राम सा!”

3. बीजेपी ने बुलाई बैठक: कांग्रेस में हुई बड़ी फूट के बाद बीजेपी ने आज जयपुर में बैठक बुलाई है. इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, सतीश पूनिया, ओम माथुर समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे. बैठक में आगे की रणनीति पर विचार किए जाएंगे. यह संभव है कि बीजेपी की सरकार बनने कि संभावना तलाशी जाएगी. सूत्रों का कहना है कि बीजेपी इस बात पर करीब से नजर रखे हुए है कि कांग्रेस के कितने विधायक गहलोत के समर्थन में हैं और कितने पायलट के.

4. पायलट को न्योता: बीजेपी ने सचिन पायलट के लिए अपने दरवाजे खोल दिए हैं. प्रदेश के कई बीजेपी नेताओं ने कहा कि बीजेपी की विचारधारा में विश्वास जताने वाले किसी भी नेता के लिए पार्टी के द्वार खुले हुए हैं. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, ‘‘कोई भी बड़े जनाधार वाला नेता किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होना चाहे तो उसका स्वागत किया जाता है. हमारी विचारधारा में विश्वास जताकर कोई यदि हमसे जुड़ता है तो हम खुले हाथों से उसका स्वागत करेंगे. यह एक सामान्य प्रक्रिया है.’’

5. कांग्रेस ने लगाए ये आरोप: कांग्रेस ने कहा कि सचिन पायलट दिग्भ्रमित होकर बीजेपी के जाल में उलझ गए और कांग्रेस की सरकार गिराने की साजिश में शामिल हो गए. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि यह अस्वीकार्य है. यह किसी दल को स्वीकार नहीं हो सकता. इसलिए बड़े दुखी मन व खेद से कांग्रेस पार्टी ने ये फैसले किए हैं.

6. कैबिनेट की हुई बैठक: देर शाम अशोक गहलोत के आवास पर कैबिनेट की बैठक हुई. इस बैठक के बाद सभी विधायकों को बसों से होटल भेज दिया गया है. इस दौरान मुख्यमंत्री गहलोत भी बस में दिखे. सीएम जल्द ही कैबिनेट में बड़े फेरबदल करेंगे.

7. ‘पायलट के हाथ कुछ भी नहीं’: मंगलवार को दिन में राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात करने के बाद गहलोत ने कहा कि बीजेपी मध्य प्रदेश के खेल को राजस्थान में भी दोहराना चाहती थी और ‘यह सब’ पिछले छह महीने से चल रहा था. उन्होंने कहा, “सचिन पायलट के हाथ में कुछ भी नहीं हैं. वह तो केवल बीजेपी के हाथ में खेल रहे हैं …जो रिसॉर्ट सहित बाकी सारे बंदोबस्त करने में जुटी है.”

8. इन्हें मिली राज्य में कांग्रेस की कमान: कांग्रेस ने पायलट के स्थान पर गोविंद सिंह डोटासरा को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का नया अध्यक्ष नियुक्त किया है. वह गहलोत सरकार में शिक्षा मंत्री भी हैं.

9. कांग्रेस में अलग-अलग राय: सचिन पायलट को पद से हटाये जाने के बाद कांग्रेस नेता शशि थरूर और प्रिया दत्त समेत कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी. थरूर ने कहा, ‘‘ मैं सचिन पायलट के कांग्रेस छोड़ने को लेकर दुखी हूं. काश ! बात यहां तक नहीं पहुंची होती. अलग होने के बजाय उन्हें अपने, हमारे सपनों को पूरा करने के लिए पार्टी को बेहतर एवं प्रभावशाली बनाने के प्रयास में शामिल होना चाहिए था.’’

10.पुलिस सतर्क: राजस्थान में जारी राजनीतिक घटनाक्रम के बीच पुलिस अमले को सतर्क कर दिया गया है ताकि कानून व व्यवस्था के संकट जैसी कोई स्थिति पैदा नहीं हो. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) सौरभ श्रीवास्तव ने कहा,“खुफिया जानकारी और राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए राज्य भर में पुलिस अमले को सतर्क किया गया है.”

Related Articles

Back to top button