Select your Language: हिन्दी
India

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में अकाउंट खुलवाने से मिलेगा आपको दुगना मुनाफा

नई दिल्ली. आजकल लोग नौकरी के अलावा अलग से आमदनी करने के उपाय ढूंढ रहे हैं. क्योंकि इस एक विकल्प से आमदनी करने से सेविंग करना मुश्किल होता है. आज हम आपको पोस्ट ऑफिस की एक खास स्कीम के बारे में बता रहे हैं जिसके जरिए आप आसानी से मोटी कमाई कर सकते हैं. हस्बैंड वाइफ को यह स्कीम डबल फायदा दे सकती है. क्योंकि इस अकाउंट में ज्वाइंट अकाउंट खुलवाने की भी सुविधा मिलती है. हम बात कर रहे हैं पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम (MIS) के बारे जो आपको हर महीने कमाई का मौका देती है.

जानिए क्या है पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम?

MIS स्कीम में खोले गए अकाउंट को सिंगल और ज्वाइंट दोनों तरह से ही खोला जा सकता है. व्यक्तिगत खाता खोलते समय आप इस स्कीम में न्यूनतम 1,000 रुपए और अधिकतम 4.5 लाख रुपए का निवेश कर सकते हैं. लेकिन, ज्वाइंट खाते में अधिकतम 9 लाख रुपए तक जमा किया जा सकता है. यह योजना रिटायर्ड कर्मचारियों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए तो काफी फायदेमंद है. इस स्कीम में आपको मौजूदा समय में 6.6 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिल रहा है. स्कीम के तहत आपकी कुल जमा पर सालाना ब्याज के हिसाब से रिटर्न की कैलकुलेशन की जाती है.

सालाना कमा लेंगे 59,400 रुपए

अगर आप इस स्कीम में ज्वाइंट अकाउंट खुलवाते हैं तो ऐसे करने से आपका लाभ दोगुना हो जायेगा. हम आपको आज इस खास स्कीम के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं कि कैसे इससे जुड़कर हस्बैंड-वाइफ इस स्कीम के जरिए 59,400 रुपए तक की सालाना कमाई कर सकते हैं.

ऐसे समझें गणित

मान लीजिये की किसी पति-पत्नी ने इस स्कीम के तहत ज्वॉइंट अकाउंट में 9 लाख रुपए निवेश किया है. 9 लाख की जमा पर 6.6 फीसदी ब्याज दर से सालाना रिटर्न 59,400 रुपए होगा. इसे अगर 12 हिस्सें में बांट दिया जाए तो यह मंथली 4950 रुपए होगा. यानी मंथनी 4950 रुपए आप हर महीने अपने खाते में मंगा सकते हैं. वहीं, आपका मूलधन पूरी तरह से सुरक्षित पड़ा रहेगा. चाहें तो स्कीम को 5 साल बाद और 5-5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं.

स्कीम के फायदे?

MIS में अच्छी बात ये है कि दो या तीन लोग मिलकर भी ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं. इस अकाउंट के बदले में मिलने वाली आय को हर मेंबर को बराबर दिया जाता है. ज्वाइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं. सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं. अकाउंट में किसी तरह का बदलाव करने के लिए सभी अकाउंट मेंबर्स की ज्वाइंट एप्लीकेशन देनी होती है.

Related Articles

Back to top button