Select your Language: हिन्दी
Health

जाने मीठा खाने के अलावा और किन चीजों के प्रयोग से भी बढ़ता है शुगर लेवल

नई दिल्ली। दुनियाभर में मधुमेह रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. जब डायबिटीज नियंत्रण से बाहर होता जा रहा है, तो हृदय रोग, किडनी की समस्याएं, अंधापन आदि की आशंका बढ़ जाती है. ऐसी स्थिति में शुगर लेवल को नियंत्रित करना सबसे महत्वपूर्ण है और इसके लिए अपने भोजन का विशेष ध्यान रखना पड़ता है. एम्स के डॉ. अनुराग शाही का कहना है कि डायबिटीज एक ऐसा रोग है जिसमें रक्त में शुगर या ग्लूकोज का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. खाना खाने से ग्लूकोज मिलता है और इन्सुलिन नाम का हार्मोन इस ग्लूकोज को शरीर की कोशिकाओं में जाने में मदद करता है, ताकि उन्हें ताकत मिल सके.

डायबिटीज के सामान्य लक्षणों में बार-बार पेशाब आना, तेज प्यास और भूख लगना, वजन बढ़ना या असामान्य कम होना, थकान, कट या घाव लगने पर जल्दी ठीक न हो पाना, हाथ पैर में गुदगुदी या सुन्न होना शामिल हैं. डायबिटीज में आहार में सुधार और नियंत्रण करके राहत पाई जा सकती है, क्योंकि आहार के जरिए ही शुगर का स्तर कम या ज्यादा किया जा सकता है. कुछ लोगों को लगता है कि केवल शक्कर खाने से ही शुगर लेवल बढ़ेगा, लेकिन ऐसा नहीं है. यहां कुछ ऐसी चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे डायबिटीज के मरीज को बचना चाहिए, क्योंकि ये शुगर लेवल को बढ़ाने का काम करते हैं.

ट्रांस फैट और कैन्ड फूड

चिप्स, कुकीज, पीनट बटर जैसे पैकेज्ड ट्रांस फैट वाले खाद्य पदार्थ भी डायबिटीज के रोगियों के लिए हानिकारक हैं. ट्रांस फैट इंसुलिन प्रतिरोध और मोटापा बढ़ाने में योगदान देते हैं.

शहद और नैचुरल स्वीटनर

ये पदार्थ रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकते हैं. हालांकि, वे उतने प्रोसेस्ड नहीं होते हैं, लेकिन उनमें सफेद चीनी के बराबर कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो हानिकारक है.

तले हुए खाद्य पदार्थ

नमकीन और तला हुआ भोजन भी चीनी के स्तर को प्रभावित कर सकता है. तले हुए पदार्थों में हाई कार्बोहाइड्रेट होता है. इसके अलावा, उन्हें बनाने के लिए रिफाइंड तेल का उपयोग किया जाता है, जो डायबिटीज के लिए हानिकारक है.

फुल क्रीम डेयरी प्रोडक्ट्स

डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे क्रीम चीज, आइसक्रीम, फुल क्रीम दूध में सैचुरेटेड फैट होता है, जो इंसुलिन प्रतिरोध को खराब कर सकता है. फुल क्रीम डेयरी उत्पादों से बचने और इसके बजाय फैट रहित या लो फैट वाले पदार्थों का सेवन करने का प्रयास करें.

फ्लेवर्ड योगर्ट

डायबिटीज के मरीजों को फ्लेवर्ड योगर्ट का सेवन नहीं करना चाहिए. प्लेन योगर्ट में प्रोबायोटिक्स पाए जाते हैं जो कि शुगर को नियंत्रण में रखते हैं, लेकिन फ्लवर्ड योगर्ट का सेवन ब्लड शुगर का स्तर बढ़ा सकता है.

मीट

मीट जैसे कि बीफ और सेलमन कोलेस्ट्रॉल के साथ शुगर लेवल भी बढ़ाता है. इसमें सैचुरेटेड फैट्स होता है. यह डायबिटीज के मरीजों में हृदय रोग का जोखिम बढ़ाते हैं.

पास्ता

व्हाइट पास्ता में कार्बोहाइड्रे़ट होता है जो कि डायबिटीज के मरीजों के लिए अच्छा नहीं है. यह भी शरीर में ब्लड शुगर बढ़ा सकता है.

सफेद ब्रेड और चावल

सफेद ब्रेड और चावल में रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट होते हैं और इनमें प्रोटीन और फाइबर की भी कमी होती है. यह तेजी से चीनी में परिवर्तित हो जाता है, जो हानिकारक हो सकता है. ब्राउन ब्रेड, ब्राउन राइस और साबुत अनाज खा सकते हैं.

आलू और शकरकंद

डायबिटीज के मरीजों को आलू और शकरकंद का सेवन भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसमें स्टार्च भी होता है. हालांकि, कभी-कभार उबली हुई शकरकंद को कम मात्रा में खा सकते हैं.

Related Articles

Back to top button