Select your Language: हिन्दी
India

LAC पर चीन से टक्कर के लिए भारतीय सेना पूरी तरह तैयार, तोप से लेकर टैंक तक सब कुछ तैनात

LAC पर चीन से टक्कर के लिए भारतीय सेना पूरी तरह तैयार, तोप से लेकर टैंक तक सब कुछ तैनात

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ चल रहे गतिरोध के बीच भारत ने पड़ोसी मुल्क को घेर रखा है. भारत ने स्पेशल फोर्सेज, इंजीनियरिंग कोर, एयर डिफेंस, तोप, टैंक,स्ट्राइक कोर और 14वीं कोर को तैनात कर रखा है. इसके जरिए भारत, चीन पर नकेल कसने की पूरी तैयारी में है. तो आइए हम आपको बताते हैं कि इन सभी की क्या खासियत है.

14वीं कोर- लेह में मौजूद 14वीं कोर की जिम्मेदारी है कि वह पूर्वी लद्दाख से सटे एलएसी की सुरक्षा करे. 14वीं कोर चीन सीमा के साथ ही कारगिल, द्रास और बटालिक में पाकिस्तान से सटी एलओसी और सियाचिन ग्लेशियर पर भी तैनात है. ऐसे में इस कोर की एक पूरी डिवीजन LAC की जिम्मेदारी संभालती है. इसे त्रिशूल डिवीजन के नाम से भी जाना जाता है. एक डिवीजन में करीब 10 हजार इंफ्रेंट्री यानी पैदल सैनिक, आर्मर्ड, आर्टलरी, एयर डिफेंस और इंजीनियरिंग ब्रिगेड आदि शामिल है. एक डिवीजन की पूरी फोर्स कम से कम 20,000 तक पहुंच जाती है. इसका मतलब यह हुआ है कि शांतिकाल में भी 20,000 सैनिक इस सीमा पर रहते हैं.

स्ट्राइक कोर- चीन के साथ सीमा पर हालात गंभीर होने के बाद भारतीय सेना ने अपनी स्ट्राइक कोर को तैनात कर दिया. एक स्ट्राक कोर में 40-50 हजार सैनिक होते हैं. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यहां स्ट्राइक कोर की 2 डिवीजन्स को तैनात किया गया है. करीब 25-30 हजार सैनिक और ज्यादा सैनिक यहां तैनात किए गए हैं.

बीते 6 साल से सेना की पूरी टैंक ब्रिगेड पूर्वी लद्दाख में तैनात है. बताया गया कि चुशुल और डेमचोक सरीखे इलाकों में T72 और T90 टैंक्स को मुस्तैद हैं. इसके साथ ही यहां स्ट्राइक कोर की आर्मर्ज ब्रिगेड को भी तैनात किया गया है.

LAC पर भारतीय सेना ने तोप तैनात कर रखा है. सेना ने बोफोर्स, एम 774 हवित्जर, मीडियम और फील्ड गन्स को तैनात कर रखा है

हवाई सुरक्षा- भारतीय सेना ने यहां स्वदेशी आकाश मिसाइल सिस्टम से लेकर रूसी इग्ला मिसाइल सिस्टम तैनात कर रखा है.

सेना की इंजनीयरिंग कोर- इंजनीयरंग कोर की मदद से सेना नदी नालों पर पुल बनाती है. ऐसी किसी भी जरूरत के लिए यह कोर भी LAC पर तैनात है. LAC पर पैरा एसफएफ और स्पेशल फ्रंटियर फोर्स के कमांडोज तैनात हैं. हाल ही में चीन के सैनिकों को SSF ने तगड़ा झटका दिया था.

Related Articles

Back to top button