Select your Language: हिन्दी
India

Paytm बैंक दे रहा है ज्यादा मुनाफा, अब फिक्स्ड डिपोजिट करने पर मिलेगा 7 फीसदी तक का ब्याज

नई दिल्ली. भारत में बचत के लिए सबसे पॉपुलर इन्वेस्टमेंट टूल फिक्स्ड डिपॉजिट ही है. बीते कुछ समय में एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक समेत कई बैंक की एफडी (FD) दरों में बड़ी गिरावट आई है. ऐसे में आज हम आपको एक ऐसे बैंक के बारे में बताने जा रहे हैं, जो इस दौर में भी 7 फीसदी दर पर एफडी की सुविधा मुहैया करा रहे हैं. दरअसल, पेटीएम पेमेंट्स बैंक भी एफडी करने की सुविधा देता है.

इंडसइंड बैंक के साथ है पार्टनरशिप

पेमेंट्स बैंक को फिक्स्ड डिपॉजिट की सुविधा प्रदान करने की प्रत्यक्ष तौर पर इजाजत नहीं है. इसलिए पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने इसके लिए इंडसइंड बैंक के साथ पार्टनरशिप किया है. हालांकि ब्याज की दरें इंडसइंड बैंक तय करती हैं.

केवल 13 महीने का है मैच्योरिटी पीरियड

पेटीएम पेमेंट्स बैंक में एफडी का मैच्योरिटी पीरियड 13 माह है और इस पर 7 फीसदी ब्याज मिल रहा है. इस एफडी में खास बात है कि मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने से पहले ही एफडी तोड़ने पर कोई चार्ज नहीं देना होता. हालांकि इसे को 7 दिन से पहले तोड़ने पर आपको कोई ब्याज नहीं होगा.

कुछ अन्य बैंकों की ब्याज दरें-

>>  एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक- यहां आपको 7 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा.

>> डीसीबी बैंक- यहां 6.95 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इस बैंक में 1.5 लाख रुपये का निवेश 5 साल बाद बढ़कर 2,11,696 रुपये हो जाएगा.

>> आईडीएफसी बैंक- यहां 6.75 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. डीसीबी बैंक में 1.5 लाख रुपये का निवेश में 5 साल बाद 2,09,625 रुपये हो जाएगा.

>> आरबीएल बैंक- ये बैंक 5 साल की एफडी पर 6.75 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है. यहां पर आपका 1.5 लाख रुपये 5 साल बाद 2,09,625 रुपये हो जाएंगे.

>> यस बैंक- यह 6.25 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है, जिसके आधार पर आपको 1.5 लाख रुपये बढ़कर 2,09,625 रुपये हो जाएगा.

>> Deutsche Bank और उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक- 5 साल की एफडी पर 6.25 फीसदी की दर से ब्याज दे रहे हैं. 1.5 लाख रुपये के निवेश करने पर 5 साल बाद यह रकम बढ़कर 2,02,028 रुपये हो जाएगी.

>> बंधन बैंक और करूर वैश्य बैंक- 5 साल की एफडी पर 6 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इन दोनों बैंकों में 1.5 लाख रुपये का निवेश करने पर 5 साल बाद यह बढ़कर 2,02,028 करोड़ रुपये हो जाएगा.

Related Articles

Back to top button