Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

अच्छी खबर: स्वदेशी वैक्सीन Covaxin को फेज 3 ट्रायल की मिली मंजूरी

नई दिल्ली I ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने भारत बायोटेक को कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल की इजाजत दे दी है. गहन चर्चा और उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर समिति ने तीसरे चरण के ट्रायल की अनुमति दी है. बता दें कि भारत बायोटेक इंडियन कंपनी है जो Covaxin के नाम से कोरोना की वैक्सीन पर काम कर रही है. भारत बायोटेक वैक्सीन का निर्माण इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर कर रही है.

बीते हफ्ते स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी थी कि भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन के तीसरे फेज का ट्रायल जल्द शुरू होगा. वहीं, अब कंपनी को इसकी इजाजत मिल गई है. हालांकि मामूली बदलाव के साथ ट्रायल 3 शुरू करने की मंजूरी मिली है. 

बता दें कि कोवैक्सीन अभी एक निष्क्रिय वैक्सीन है. इसे इंडियन इस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी पुणे में SARS-CoV-2 वायरस से निकाला गया है. भारत बायोटेक ने कहा है कि वो Covaxin में एक ऐसी दवा को मिलाएगा, जिससे इस प्रतिरोधक क्षमता और मजबूत और इससे लंबे समय तक इम्युनिटी मिलेगी.

वैक्सीन में Alhydroxiquim-II को मिलाया जाएगा

इसके लिए भारत बायोटैक इस वैक्सीन में Alhydroxiquim-II को मिलाने जा रही है. Alhydroxiquim-II इस वैक्सीन में सहायक का काम करेगी और रोग प्रतिरोधक क्षमता को और भी बढ़ा देगी. 

भारत बायोटेक के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक कृष्ण इला ने कहा कि ऐसे सहायक तत्वों की ज्यादा जरूरत है जो वैक्सीन एंटीजन के प्रति ज्यादा एंटीबॉडी रिस्पॉन्स पैदा कर सके, इसकी वजह से पैथोजिंस से लंबे समय तक सुरक्षा मिल सकेगी. उन्होंने कहा कि वायरोवैक्स के साथ हमारी साझेदारी भारत बायोटेक की सुरक्षित और प्रभावी वैक्सीन विकसित करने की हमारे समपर्ण का नतीजा है, ताकि इससे लंबे समय तक इम्युनिटी मिल सके. 

Related Articles

Back to top button