Select your Language: हिन्दी
Tech

सरकार ने जारी की वार्निंग, व्हाट्सएप मैसेज के इस लिंक पर गलती से भी न करें क्लिक वरना होगा नुकसान

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के दौरान देश में बैंकिंग फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है. जिसकी एक बड़ी वजह इस दौरान इंटरनेट और वॉट्सऐप का बढ़ता इस्तेमाल भी है. दरअसल कोरोना के चलते बड़ी संख्या में लोग घर से ऑफिस का काम कर रहे है. ऐसे में मजबूरन लोगों को इंटरनेट और वॉट्सऐप का ज्यादा इस्तेमाल करना पड़ रहा है. जिसका फायदा साइबर अपराधी फ्रॉड करने के लिए उठा रहे हैं. आपको बता दें इन दिनों वॉट्सऐप पर एक मैसेज सर्कुलेट हो रहा है. जिसमें कोरोना महामारी राहत फंड पाने के लिए एक लिंक दिया हुआ है. यदि आपके पास भी ऐसा ही कोई मैसेज आया है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए. क्योंकि आपने जैसे ही इस लिंक पर क्लिक किया वैसे ही आपकी सारी डिटेल साइबर अपराधियों के पास पहुंच जाएगी और वह इसका कभी भी फायदा उठा सकते है. आइए जानते है इससे कैसे बचा जा सकता है.

साइबर अपराधी कैसे भेजते है मैसेज- सरकार की ओर से जारी चेतावनी में बताया गया है कि साइबर अपराधी बल्क में वॉट्सऐप पर मैसेज भेज रहे है. जिसमें साइबर अपराधी सरकार की ओर से कोरोना महामारी राहत फंड जारी करने की बात कहते है और अपने मैसेज में एक लिंक शेयर करते है. इस मैसेज में यूजर्स को दिए गए लिंक पर क्लिक करने और जरूरी डिटेल भरने के लिए कहा जाता है. यदि आप साइबर अपराधियों के प्रलोभन में आ गए और आपने अपनी निजी डिटेल उनके साथ शेयर किए. तो आप कभी भी साइबर फ्रॉड का शिकार हो सकते हैं. 

सरकार ने जारी किया अलर्ट- दरअसल सरकार की ओर से PIB Fact Check के ट्विटर हैंडल पर इस बारे में जानकारी दी गई है. इस ट्वीट में ऐसे किसी भी मैसेज को पूरी तरह से फेक बताया गया है. सरकार की ओर से कहा गया है कि कोविड 19 को लेकर ऐसा कोई फंड जारी नहीं किया है. ऐसे में यूजर्स को अलर्ट रहने की जरूरत है. ट्वीट में स्पष्ट किया गया है कि गलती से भी इस मैसेज को किसी को फॉरवर्ड न करें. इसके अलावा ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करने की सलाह दी गई है. सरकार ने चेतावनी दी है कि इस तरह के मैसेज आपके फोन को हैक कर सकते हैं. आपका डाटा चोरी कर बैंक अकाउंट में भी सेंध लगा सकते हैं.

Claim: A message circulating on #WhatsApp claims that the Government has ordered payment of ₹130,000 as #Covid funding to all citizens above the age of 18.#PIBFactCheck: The claim is #Fake. No such announcement has been made by the Government. pic.twitter.com/NF8dH08wLW

— PIB Fact Check (@PIBFactCheck) 

1.30 लाख रुपये प्रत्येक व्यक्ति को देने कही बात- साइबर अपराधियों की ओर से फेक मैसेज में 1.30 लाख रुपये केंद्र सरकार की ओर से कोविड-19 फंड के तौर पर सभी नागरिकों को देने की बात कही जा रही है. फेक मैसेज में 18 साल से ज्यादा उम्र के नागरिकों को फंड मिलने की बात कही गई है. आपको बता दें जानकारी के अभाव में बहुत से यूजर्स अपनी डिटेल दिए गए लिंक पर शेयर कर देते है और साइबर फ्रॉड का शिकार हो जाते है. 

फर्जी मैसेज से कैसे बचें?- सरकार की ओर से समय-समय पर फेक मैसेज के बारे में अलर्ट जारी किया जाता है. इसके साथ ही आपको किसी अनजान नंबर से आए मैसेज पर भरोसा नहीं करना चाहिए और ऐसे मैसेज को फॉरवर्ड करने से बचना चाहिए. जिससे कोई ओर यूजर फ्रॉड का शिकार न हो.

Related Articles

Back to top button