Select your Language: हिन्दी
Business

नव वर्ष 2021 में आपकी जेब पर सीधा असर डालेंगे ये 10 बड़े बदलाव

नई दिल्ली। नए साल यानी 1 जनवरी 2021 से कई नियम बदलने जा रहे हैं, जिसका असर आपकी जिंदगी और जेब पर पड़ेगा। मसलन, आपके पैसों के लेनदेन, बीमा, चैटिंग, बाइक-कार की खरीदारी और कारोबार तक के बदलाव इसमें शामिल हैं। नए नियमों को लागू होने से पहले इनकी जानकारी होना जरूरी है। हम आपको नए साल से होने वाले बड़े 10 बदलावों के बारे में बता रहे हैं।

1. कार्ड से संपर्क रहित लेनदेन की सीमा बढ़ेगी

भारतीय रिजर्व बैंक ने कॉन्टैक्टलेस कार्ड से लेनदेन की सीमा को बढ़ाए जाने का फैसला किया गया है। ग्राहक अब कार्ड के जरिये संपर्क रहित लेनदेन के माध्यम से 2000 के बजाय 5000 रुपये तक का ट्रांजेक्शन एक बार में कर सकेंगे। कोरोना संकट को देखते हुए आरबीआई ने यह फैसला किया था।

2. चेक से भुगतान सुरक्षित होगा

बैंकिंग धोखाधड़ी रोकने के लिए आरबीआई ने कुछ दिनों पहले चेक से पेमेंट करने के लिए पॉजिटिव पे सिस्टम लागू करने का फैसला किया था। इस नए नियम के तहत 50,000 रुपये से अधिक के पेमेंट पर जरूरी जानकारी को फिर से कंफर्म करने की जरूरत होगी। इसका मकसद चेक का गलत इस्तेमाल रोकना है। इस सिस्टम से फर्जी चेक के जरिए होने वाले धोखाधड़ी को कम किया जा सकेगा।

3. सरल जीवन बीमा पॉलिसी लॉन्च होगी

बीमा नियामक इरडा ने सभी बीमा कंपनियों को1 जनवरी से ‘सरल जीवन बीमा पॉलिसी’लॉन्च करने को कहा है। यह एक स्टैंडर्ड टर्म इंश्योरेंस होगा। इससे ग्राहकों को कंपनियों की ओर से पहले से दी गई जानकारियों के आधार पर फैसला लेने में मदद मिलेगी। सरल जीवन बीमा 18 से 65 वर्ष के लोग खरीद सकेंगे और पॉलिसी 5 लाख से 25 लाख रुपये तक कवर मिलेगा।

4. महंगा होगा यूपीआई लेनदेन

एनपीसीआइ ने यूपीआइ में प्रोसेस्ड ट्रांजेक्शन के कुल वॉल्यूम पर 30 फीसदी की सीमा लगाई है जो सभी थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स के लिए लागू है। इससे थर्ड पार्टी के जरिए पैसा भेजना महंगा हो जाएगा। इसके कारण ऐमजॉन, यूपीआई और फोनपे से भुगतान पर अतिरिक्त शुल्क देना पड़ सकता है।

5. म्यूचुअल फंड में निवेश और सुरक्षित होगा

निवेशकों के हितों को ध्यान में रखते हुए बाजार नियामक सेबी ने म्यूचुअल फंड के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। नए नियम लागू होने के बाद फंड का 75 फीसदी हिस्सा इक्विटी में निवेश करना अनिवार्य होगा, जो फिलहाल 65 फीसदी है।

6. जीएसटी रिटर्न भरने में राहत

जीएसटी प्रणाली के तहत छोटे करदाताओं के लिए तिमाही रिटर्न दाखिल करने और करों के मासिक भुगतान (क्यूआरएमपी) की योजना शुरू की है। इसके तहत ऐसे कारोबारी जिनका पिछले वित्त वर्ष में वार्षिक कारोबार पांच करोड़ रुपये तक रहा है और जिन्होंने अपना अक्तूबर का जीएसटीआर-3बी (बिक्री) रिटर्न 30 नवंबर, 2020 तक जमा कर दिया है, इस योजना के पात्र होंगे। यानी उन्हें साल में सिर्फ चार बिक्री रिटर्न दाखिल करने होंगे। इससे करीब 94 लाख छोटे कारोबारियों को राहत मिलेगी। इसके साथ ही एक जनवरी से ही जीएसटी कानून के तहत 100 करोड़ रुपये से अधिक का टर्नओवर होने पर बी2बी (बिजनस टु बिजनस) भुगतान के लिए ई-इनवॉइस जरूरी होगा।

7. कार और बाइक महंगी होंगी

वाहन कंपनियों ने 1 जनवरी 2021 से बाइक और कार के दाम बढ़ाने का ऐलान किया है। जिन कंपनियों ने कीमत बढ़ाने का एलान किया है उसमें हीरे, मारुति सुजुकी इंडिया, हीरो मोटोकॉर्प, रेनॉ, होंडा कार्स इंडिया, टाटा मोटर्स, एमजी मोटर इंडिया और महिंद्रा एंड महिंद्रा शामिल हैं।

8. फास्टैग अनिवार्य होगा

केंद्र सरकार ने गाड़ियों के लिए 1 जनवरी से फास्टैग को अनिवार्य कर दिया है। लोगों की सुविधा के लिए टोल प्लाजा पर विभिन्न बैंकों के एजेंट व एनएचएआई की तरफ से काउंटर लगाए गए हैं। लोग अपने वाहन की आरसी व ड्राइविंग लाइसेंस अथवा आधार कार्ड दिखाकर हाथों हाथ फास्टैग खरीद सकते हैं।

9. व्हाट्सएप चुनिंदा फोन पर काम करना कर देगा बंद

नए साल से कुछ एंड्रॉयड और आईओएस स्मार्टफोन् पर वॉट्सएप काम करना बंद कर देगा। कंपनी के मुताबिक जो सॉफ्टवेयर पुराने हो चुके हैं, उनके लिए व्हाट्सऐप का सपोर्ट 2021 में खत्म हो जाएगा। ऐसे उपभोक्ता को अपने फोन का सॉफ्टवेयर अपडेट करना होगा या नया फोन लेना होगा।

10. लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल का नया नियम

अगले साल 15 जनवरी से देश में लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने का तरीका बदलने वाला है। 15 जनवरी 2021 से फिक्स्ड फोन से मोबाइल पर की जाने वाली हर कॉल के लिए मोबाइल नंबर से पहले ‘0’ लगाना जरूरी होगा। लैंडलाइन से लैंडलाइन, मोबाइल से लैंडलाइन और मोबाइल से मोबाइल पर कॉल करने के लिए डायलिंग प्लान में कोई बदलाव नहीं होगा।

Related Articles

Back to top button