Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

26 जनवरी को होने वाले किसानों के ट्रैक्टर मार्च पर आतंकी साजिश की आशंका, पुलिस ने ब्लॉक किए 300 से ज्यादा पाकिस्तानी ट्विटर हैंडल

नई दिल्ली: किसानों के ट्रैक्टर मार्च को दिल्ली में हरी झंडी मिल गई है. अब किसान दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च करेंगे. इस ट्रैक्टर मार्च पर बॉर्डर पर पाकिस्तानी आतंकी संगठनों की नजर है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक उन्हें इंटेलीजेंस इनपुट मिल रहे है कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन इस ट्रैक्टर रैली में कोई गड़बड़ी फैला सकते हैं. पुलिस के मुताबिक उन्हें हाल ही में 308 ऐसे ट्विटर हैंडल का पता चला है जो किसानों की इस ट्रैक्टर रैली में गड़बड़ी फैलाने के लिए बनाए गए है.

आशंकाओं के बीच दिल्ली में किसान आएंगे
एक तरफ किसान संगठन इस बारे में सुरक्षा एजेंसियों की हरसंभव मदद की बात कर रहे हैं तो दूसरी तरफ कल एक ऐसी तस्वीर भी सामने आई, जिसे किसी भी लिहाज से किसान आंदोलन के लिए सही नहीं कहा जा सकता. सिंघु बॉर्डर के पास गुरु तेग बहादुर मेमोरियल में किए जा रहे किसान संसद के आयोजन में कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्टू का जमकर विरोध हुआ. भीड़ ने बिट्टू गाड़ी पर लाठियां चली, शीशे टूटे.

दो दिनों के इस किसान संसद का आयोजन प्रशांत भूषण ने किया है. बिट्टू एक सत्र में भाग लेने आए थे जिसमें राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को शामिल होना था, लेकिन यहां पंजाब के जालंधर से सांसद रवनीत सिंह बिट्टू और अमृतसर के सांसद गुरजीत सिंह औजला की पगड़ी तक उतर गई. कांग्रेसी सांसदों ने उनसे मारपीट करने वालों पर आरोप लगाए.

तमाम आशंकाओं के बीच अब दिल्ली में किसान आएंगे और परेड करेंगे. इस दौरान डेढ़ लाख से ज्यादा ट्रैक्टर के साथ लाखों किसानों की मौजूदगी होगी. 100 किमी लंबी ये परेड होगी. ऐसे में दिल्ली पुलिस के लिए भी 26 जनवरी को सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालना टेढ़ी खीर साबित होने वाला है.

Related Articles

Back to top button