Select your Language: हिन्दी
बिजनेस

बजट 2021-22: जानें क्या हुआ सस्ता- महंगा, पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली। आम बजट जब पेश किया जाता है तो सभी लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं किस चीज का दाम बढ़ा है और कौन सी चीज सस्ती हुई है। वैसे तो अब आम तौर पर जीएसटी काउंसिल ही सामानों पर लगने वाले टैक्स के बारे में फैसला करती है। लेकिन जब किसी सामान पर सेस लगाया या घटाया जाता है तो उसका असर सामानों की कीमत पर पड़ता है।

आम बजट 2021-22 में सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र पर अपने खर्च को बढ़ाया और उस खर्च की वसूली के लिए उत्पाद शुल्क से लेकर आयात शुल्क में बदलाव किया है। इसके साथ इस दफा एग्री इंफ्रा सेस भी लगाया है जो 2 फरवरी 2021 से लागू भी हो रहा है।

ये चीजें होंगी महंगी
शराब पीना
शराब पर भी एग्री सेस लगाने का फैसला किया गया है और इसकी वजह से शराब की कीमतों में इजाफा होगा।
पेट्रोल और डीजल के दाम
सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर भी सेस लगाने का फैसला किया है और इसका असर कीमतों पर दिखाई दे सकता है।

मोबाइल
चार्जर
इम्‍पोर्टेड कपड़े
रत्‍न (जवाहरात)
LED बल्‍ब
फ्रिज/एसी
लेदर
इलेक्ट्रॉनिक्‍स आइटम्‍स
ऑटो पार्ट्स
सोलर प्रॉडक्‍ट्स
शराब
कॉटन
सिल्‍क
प्‍लास्टिक
इलेक्ट्रॉनिक्स व मोबाइल

कैमरा मॉड्यूल कनेक्टर्स समेत प्रिंटेड सर्किट बोर्ड असेंबली, मोबाइल के कुछ पार्ट्स पर कस्टम ड्यूटी 0 से बढ़ाकर 2.5 फीसदी (1 अप्रैल 2021 से लागू)चार्जर या एडेप्टर बनाने के लिए प्रिंटेड सर्किट बोर्ड असेंबली और मॉड्यूल्ड प्लास्टिक पर कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़कर 15 फीसदी हो गई है।लीथियम आयन बैटरी और बैटरी पैक बनाने के लिए प्रिंटेड सर्किट बोर्ड असेंबली और लीथियम आयन सेल के अलावा इनपुट्स, पार्ट्स और सब पार्ट्स पर कस्टम ड्यूटी 0 से बढ़कर हुई 2.5 फीसदी की गई है। फ्रिज और एसी के कंप्रेसर पर कस्टम ड्यूटी 12.5 फीसदी से बढ़कर हुई 15 फीसदी की गई है।

ये चीजें हो सकती हैं सस्ता
सोना चांदी
अप्रैल से सोना और चांदी की कीमतों में कमी आ सकती है क्योंकि सरकार से उत्पाद शुल्क को 12.5 फीसद से घटाकर 7.5 फीसद करने का फैसला किया है।

सोना
चांदी
प्‍लेटिनम
नायलॉन के कपड़े
लोहा
स्‍टील
कॉपर आइटम्‍स
खाने के तेल पर सेस लेकिन महंगाई नहीं
सरकार ने कच्चे पाम तेल पर 17.5 फीसद एग्री इंफ्रा सेस के साथ कच्चे सोयबीन और सूरजमूखी तेल पर 20 फीसद सेस लगाने का ऐलान किया है। लेकिन बेसिक कस्टम ड्यूटी में कमी करने की वजह से कीमतों पर असर नहीं पड़ेगा।

Related Articles

Back to top button