Select your Language: हिन्दी
राष्ट्रीय

राहुल गाँधी, रिहाना और मिया खलीफा के ट्वीट पर बीजेपी ने किया पलटवार, इन सभी को बताया राष्ट्र-विरोधी

नई दिल्ली : पॉप स्टार रिहाना, पर्यावरणविद ग्रेटा थनबर्ग और पोर्न स्टार मिया खलीफा के किसान आंदोलन पर किए गए ट्वीट के बाद देश की सियासत गरमा गई है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधा है। पात्रा ने बुधवार को इन सभी को ‘देश विरोधी करार दिया’। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ दो दिन की केरल यात्रा पर गए पात्रा ने राहुल पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस नेता को किसानों और उनके आंदोलन के के बारे में कुछ भी पता नहीं है।

ये किसानों-फसलों के बारे में कुछ नहीं जानते-पात्रा
एक संवाददाता सम्मेलन में पात्रा ने पूछा, ‘रिहाना और राहुल दोनों किसानों..फसलों के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं लेकिन दोनों इन मुद्दों पर ट्वीट कर रहे हैं। अमेरिका में गांधी जी की प्रतिमा को जब नुकसान पहुंचाया गया तो ये लोग कहां थे? तब इन अंतरराष्ट्रीय हस्तियों ने ट्वीट क्यों नहीं किया?’ भाजपा नेता ने पूछा, ‘क्या इन लोगों ने तब ट्वीट किया जब कश्मीर से पंडित निकाले गए? क्या इन्होंने तब ट्वीट किया जब 26 जनवरी को दिल्ली में पुलिसकर्मियों पर हमले हुए।’

‘विदेश जाकर राष्ट्र-विरोधी तत्वों से मिलते हैं राहुल’
पात्रा ने आगे कहा, ‘इन अंतरराष्ट्रीय हस्तियों ने तब कोई ट्वीट नहीं किया। राहुल गांधी विदेश जाकर देश-विरोधी तत्वों से मिलते हैं…चाहे वह रिहाना हो अथवा मिया खलीफा। भारत को बदनाम करने के लिए प्रोपगैंडा चलाया जा रहा है। ये सभी देश विरोधी तत्व हैं।’ बता दें कि गत मंगलवार को पॉप स्टार रिहाना किसान आंदोलन पर किए गए अपने ट्वीट में पूछा, ‘हम इस पर चर्चा क्यों नहीं कर रहे हैं?’ पॉप स्टार ने अपने ट्वीट के साथ किसान आंदोलन पर सीएनएन की एक रिपोर्ट भी शेयर किया। ट्विटर पर रिहाना के 10 करोड़ फॉलोअर्स हैं।

विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान
किसान आंदोलन पर रिहाना के छह शब्दों के ट्वीट से देश की राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। रिहाना को बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी जवाब दिया है। रिहाना के ट्वीट के बाद पर्यावरणविद ग्रेटा थनबर्ग और लेबनानी मूल की पोर्न स्टार मिया खिलाफ ने भी किसान आंदोलन पर ट्वीट किया। अंतरराष्ट्रीय हस्तियों के ट्वीट के बाद विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू किया। विपक्ष का कहना है कि इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की छवि खराब हो रहा है। मामले के तूल पकड़ने पर विदेश मंत्रालय ने अपना एक विस्तृत बयान जारी किया। विदेश मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय हस्तियों के ट्वीट को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताते हुए कहा कि इस तरह के मामलों पर टिप्पणी करने में जल्दबाजी दिखाने से पहले जरूरी है कि तथ्यों की सही तरीके से जांच-पड़ताल कर ली जाए और मुद्दे को सही तरीके से समझ लिया जाए।

Related Articles

Back to top button