Select your Language: हिन्दी
World

चीन ने बीबीसी न्यूज़ चैनल को किया बैन, लगाया नियमो की अनदेखी करने का आरोप

बीजिंग. चीन की सरकार ने देश में बीबीसी के प्रसारण पर रोक लगा दी है. हाल ही में ब्रिटेन ने चीनी सरकारी चैनल सीटीजीएन का लाइसेंस रद्द कर दिया था और चीन ने एक सप्ताह पहले इसका जवाब देने की धमकी दी थी. बीजिंग के राष्ट्रीय रेडियो और टेलीविजन प्रशासन ने देर रात दिए एक वक्तव्य में कहा कि चीन में बीबीसी वर्ल्ड न्यूज ने नियमों का उल्लंघन किया है और देश के हितों को नजरअंदाज किया है. चीन में पहले ही कुछ होटलों, प्रतिष्ठानों और विदेशियों के लिए निर्मित आवासीय परिसरों के बाहर बीबीसी नहीं देखा जा सकता था. यह स्पष्ट नहीं है कि प्रतिबंध से इन जगहों पर क्या प्रभाव पड़ेगा.

इस मामले में बीबीसी की ओर से बयान जारी किया गया है. इसमें कहा गया है, ‘हम चीन के अधिकारियों की ओर से उठाए गए इस कदम से निराश हैं. बीबीसी दुनिया की सबसे भरोसेमंद न्‍यूज ब्रॉडकास्‍टर है. यह दुनिया भर से निष्‍पक्ष और बिना डरे स्‍टोरीज लोगों के सामने रखता है.’ चीन का यह कदम तब आया है जब 4 फरवरी को ब्रिटेन में मीडिया रेगुलेटर ऑफकॉम ने चाइना ग्‍लोबल टेलीविजन नेटवर्क (सीजीटीएन) का ब्रिटेन में प्रसारण का लाइसेंस रद कर दिया था. जांच में पाया गया था कि लाइसेंस गलत तरीके से स्‍टार चाइना मीडिया लिमिटेड के पास था.

वहीं इससे पहले चीन ने पिछले दिनों शिनजियांग क्षेत्र में उइगुर और अन्य मुस्लिमों के लिए बनाए गए शिविरों में महिलाओं से कथित सामूहिक बलात्कार और उत्पीड़न पर खबर के लिए ब्रिटिश प्रसारक बीबीसी की आलोचना की थी. चीन ने ब्रिटेन में अपने सरकारी प्रसारक सीजीटीएन का लाइसेंस रद्द किए जाने की भी निंदा की थी.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने जासूसी के आरोपों पर तीन चीनी पत्रकारों को निष्कासित किए जाने के ब्रिटेन के कदम पर भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. ब्रिटेन ने पत्रकार के नाम पर पिछले साल जासूसी करने वाले तीन चीनी नागरिकों को निष्कासित कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तीनों बीजिंग के सुरक्षा मंत्रालय के लिए खुफिया अधिकारी के तौर पर काम कर रहे थे.

Related Articles

Back to top button