Select your Language: हिन्दी
राजनैतिक

सियासी उठापठक के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पुडुचेरी दौरे पर, जनसभा को करेंगे संबोधित

पुडुचेरी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी का दौरे पर हैं. इस दौरान पीएम मोदी बिजली परियोजनाओं समेत कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को दिन में 11:30 बजे पुडुचेरी में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे. शाम 4 बजे वह 12,400 करोड़ रुपये की लागत से कोयंबटूर में आधारभूत संरचना से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे.

बयान के मुताबिक तमिलनाडु में प्रधानमंत्री न्येवेली नयी ताप बिजली परियोजना को राष्ट्र को समर्पित करेंगे. संयंत्र की दो इकाइयों के जरिए 1,000 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा. इस संयंत्र से तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना और पुडुचेरी को भी फायदा होगा तथा बिजली में तमिलनाडु की हिस्सेदारी 65 प्रतिशत होगी. बयान में कहा गया कि तमिलनाडु के दौरे के दौरान प्रधानमंत्री वी ओ चिदंबरनार बंदरगाह पर ग्रिड से जुड़े पांच मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्र का भी शिलान्यास करेंगे.

मेडिकल कॉलेज के नए परिसर का उद्घाटन करेंगे पीएम
पुडुचेरी में प्रधानमंत्री मोदी सतनाथपुरम-नागापट्टिनम मार्ग का शिलान्यास करेंगे. वह कराईकल जिले में मेडिकल कॉलेज के नए परिसर का भी उद्घाटन करेंगे. इसके अलावा, मोदी कई और परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे.
पुडुचेरी भाजपा के अध्यक्ष स्वामीनाथन ने बताया कि सुबह 10.30 बजे यहां पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री सीधे जवाहरलाल स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान पहुंचेंगे जहां वे विभिन्न केंद्रीय योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे. उन्होंने बताया कि इसके बाद प्रधानमंत्री एक जनसभा को संबोधित करेंगे.

तीन साल में दूसरी बार पुडुचेरी आ रहे पीएम
पिछले तीन सालों में प्रधानमंत्री का यह पुडुचेरी का दूसरा दौरा होगा. इससे पहले 2018 में उन्होंने निकटवर्ती विल्लुपुरम जिले में ऑरोविले अंतरराष्ट्रीय परियोजना का दौरा किया था और इस दौरान एक जनसभा को भी संबोधित किया था.

प्रधानमंत्री का यह दौरान ऐसे समय में हो रहा है जब प्रदेश का राजनीतिक माहौल पूरी तरह बदला हुआ है. कांग्रेस की अगुवाई वाली यहां की राज्य सरकार का नेतृत्व कर रहे वी नारायणसामी ने 22 फरवरी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है.

उनके इस्तीफे के बाद किसी भी राजनीतिक दल ने सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है. ऐसे में यहां राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की संभावना बड़ गई है. पुडुचेरी में इसी साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं.

Related Articles

Back to top button