Select your Language: हिन्दी
Tech

अगर आप व्हाट्सएप को हैक होने से बचाना चाहते है तो तुरंत इन सेटिंग्स में करे ये बदलाव, जाने क्या है पूरी प्रक्रिया

नई दिल्ली. ”हैलो, मैंने गलती से आपको 6 डिजिट का एक कोड SMS कर दिया है, क्या आप मुझे भेज देंगी? थोड़ा जल्दी कीजिएगा.” अगर आपको भी ऐसा कोई मैसेज आता है तो सावधान हो जाइए. क्योंकि ऐसे मैसेज का जवाब आपके लिए भारी पड़ सकता है. साक्षी (बदला हुआ नाम) को एक व्यक्ति ने ऐसा ही मैसेज भेजा. साक्षी ने इस मैसेज को महज एक गलती समझकर उन्हें कोड के साथ रिप्लाई कर दिया. इसके बाद उनका व्हॉट्सऐप हैक हो गया है. साक्षी के पास उनके व्हॉट्सऐप का एक्सेस नहीं रहा और इस दौरान उनके व्हॉट्सऐप से कॉन्टैक्ट के कई लोगों को मैसेज भेजा गया है. इन मैसेज को न तो साक्षी ने भेजा था और न ही उन्हें इस बारे में कोई जानकारी थी.

दरअसल, हैकर्स धोखाधड़ी के लिए आए दिन नये-नये तरीके खोजते रहते हैं. कई लोग इस उनके इस जाल में फंस भी जाते हैं. ऐसे में अगर आप भी चाहते हैं कि आपका भी व्हॉट्सऐप अकाउंट हैक न हो तो इसके लिए आपको सतर्क रहना होगा. साथ ही आपको अपने व्हॉट्सऐप की सेटिंग्स में कुछ बदलाव भी करना होगा.

कैसे हैक हो जाता है व्हॉट्सऐप
व्हॉट्सऐप को किसी भी नये डिवाइस में लॉगिन के लिए एक वेरिफिकेशन कोड की जरूरत होती है, जोकि रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है. अगर यह वेरिफिकेशन कोड गलती से भी किसी दूसरे के हाथ लग गया तो आप अपने व्हॉट्सऐप का एक्सेस खो सकते हैं. केवल यही नहीं, कई बार हैकर्स मालवेयर का भी सहारा लेकर धोखे को अंजाम देते हैं. इस 6 डिजिट के कोड की मदद से हैकर्स अपने डिवाइस पर व्हॉट्सऐप लॉगिन कर सकते हैं. हालांकि, आप अपने सेटिंग्स में कुछ बदलाव कर इससे बच सकते हैं.

सेटिंग में करें बदलाव
व्हॉट्सऐप अपने यूजर्स को दो स्टेप के वेरिफिकेशन की सुविधा दे सकता है. इस सुविधा का सबसे बड़ा फायदा है कि आप जब भी नये डिवाइस पर अपने व्हॉट्सऐप को लॉगिन करेंगे तो आपको इस कोड की जरूरत होगी. केवल यही नहीं, आप इस कोड के बारे में कभी भी पता लगा सकते हैं.

कैसे एक्टिवेट करें यह सेटिंग?

>> टू-स्टेप वेरिफिकेशन को एक्टिवेट करने के लिए सबसे पहले आपको अपने व्हॉट्सऐप को खोलना होगा.

>> इसके बाद ऐप की सेटिंग्स में जाएं और फिर अकाउंट के विकल्प पर टैप करें.

>> यहां आपको Two-Step Verification का एक विकल्प दिखेगा.

>> इसे Enable करने के बाद आप अपनी पसंद का कोड सेट कर लें.

>> इसमें आपको कोड रिसेट करने या भूल जाने पर ईमेल के जरिए प्राप्त करने की भी सुविधा होगी.

Related Articles

Back to top button