Select your Language: हिन्दी
West Bengal

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पैर में लगी चोट पर बीजेपी ने लगाया सहानुभूति का मरहम

कोलकाता: ममता बनर्जी के घायल होने की घटना को लेकर राजनीति तेज हो गई है. बीजेपी, कांग्रेस ने इस घटना को नाटक करार दिया है. ममता के चोटिल होने को लेकर बीजेपी ने पुलिस प्रशासन पर हमला बोला है. बीजेपी ने इसे ममता की सहानुभूति पाने की कोशिश करार देते हुए पूरी घटना की सीबीआई जांच कराने की मांग की है. वहीं कांग्रेस ने इसे ममता का नाटक करार दिया है.

बैरकपुर से बीजेपी के लोकसभा सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि ममता झूठ बोल रही हैं और उनका ड्रामा ध्यान आकर्षित करने और जनता की सहानुभूति हासिल करने के लिए लक्षित था. सिंह ने कहा, “वह हर बार जनता की सहानुभूति पाने के लिए ऐसा करती हैं. यह कुछ और नहीं, बल्कि उसका नाटक है.”

वहीं ममता ने कहा, “मैं अपनी कार के बाहर दरवाजा खोलकर खड़ी थी. मैं प्रार्थना करने के लिए एक स्थानीय मंदिर में जाने वाली थी. कुछ लोगों ने अचानक आकर कार के दरवाजे को धक्का दिया, जिससे मेरे पैर में चोट आई.”

ममता का हाल जानने अस्पताल पहुंचे राज्यपाल पर हमला
TMC हादसे के लिए बीजेपी को जिम्मेदार बता रही है लेकिन बीजेपी, ममता को जिम्मेदार बता रही हैं. ममता की चोट ने बंगाल में सियासत गरमा दी है जिसकी एक तस्वीर कोलकाता में दिखी. जब राज्यपाल धनखड़ देर शाम ममता बनर्जी का हाल-चाल जान कर अस्पताल से लौट रहे थे. तब उन पर जूता फेंका गया.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ घायल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का हाल जानने बुधवार रात सरकारी एसएसकेएम अस्पताल पहुंचे. इस दौरान वहां उपस्थित सैंकड़ों तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) समर्थकों ने उनका विरोध करते हुए ‘वापस जाओ’ के नारे लगाए. राज्यपाल ने घटना को लेकर प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है. राज्यपाल करीब आधे घंटे तक मुख्यमंत्री के कक्ष में रहे और बनर्जी ने धनखड़ को घटना के बारे में जानकारी दी.

इस बीच चुनाव आयोग ने घटना की जांच रिपोर्ट मांगी है. राज्य में चुनाव के एलान के बाद से पुलिस-प्रशासन आयोग के निर्देशों पर ही काम कर रहे हैं. ऐसे में अगर सुरक्षा में चूक का कोई मामला सामने आता है तो कार्रवाई का अधिकार चुनाव आयोग को ही होगा.

ममता को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा
कल नामांकन दाखिल करने के बाद ममता बनर्जी लगातार मंदिरों में जाकर दर्शन कर रही थीं. लोगों से मिल रही थीं. इसी दौरान एक जगह भीड़ होने की वजह से उनके पैर में चोट लग गई. घटना के तुरंत बाद ममता ने बताया कि बीजेपी ने साजिश के तहत उन पर हमला किया है. घटना के बाद नंदीग्राम से कोलकाता तक ग्रीन कॉरिडोर बनाकर ममता बनर्जी SSKM अस्पताल पहुंचाया गया. उनके इलाज के लिए यहां पहले से चार डॉक्टरों की टीम तैयार थी. इस टीम में कॉर्डियोलॉजिस्ट, न्यूरोलॉजिस्ट, ऑर्थोपेडिक सर्जन, मेडिसिन स्पेशलिस्ट शामिल हैं.

पैर में चोट लगने के बाद ममता ने सीने में दर्द की शिकायत भी की थी. डॉक्टरों ने उनकी ईसीजी जांच की, ममता की ईसीजी जांच रिपोर्ट नॉर्मल है. रात में ही ममता बनर्जी का सीटी स्कैन किया गया है और टेम्परेरी प्लास्टर भी किया गया है. अगले 48 घंटे ममता बनर्जी डॉक्टरों की निगरानी में रहेंगी.

Related Articles

Back to top button