Select your Language: हिन्दी
World

कोरोना से जंग में भारत की मदद के लिए बीस से ज्यादा देश आए आगे, 10 करोड़ डॉलर से ज्यादा की मेडिकल सामग्री भेज रहा अमेरिका

वाशिंगटन : कोरोना महामारी से बुरी तरह घिर चुके भारत की मदद करने के लिए अमरिका सहित दुनिया के करीब 20 देश सामने आए हैं। अमेरिका ने कहा है कि संकट की इस घड़ी में वह भारत के साथ है। वह भारत को 10 करोड़ डॉलर से ज्यादा की मेडिकल सामग्री की आपूर्ति कर रहा है। ह्वाइट हाउस ने कहा है कि यह आपूर्ति अगले कुछ दिनों तक भारत को जारी रहेगी। ह्वाइट हाउस ने कहा है कि तत्काल आपात कोविड-19 राहत के तहत वह भारत को 1700 ऑक्सीजन कन्सेंट्रेटर्स, 1100 सिलेंडर और लार्ज स्केल ऑक्सीजन जेनरेशन यूनिट्स भेज रहा है।

29 अप्रैल से पहुंचेगी मेडिकल सामग्री
ह्वाइट हाउस ने कहा कि मेडिकल राहत सामग्री 29 अप्रैल से भारत पहुंचनी शुरू हो जाएगी और यह अगले सप्ताह तक जारी रहेगी। बाइडेन प्रशासन की तरफ से बुधवार को जारी फैक्ट शीट के मुताबिक अमेरिका ने अपने लिए तैयार हो रहे एस्ट्राजेनेका के कोरोना टीके को भारत भेजने का निर्देश दिया है। ह्वाइट हाउस ने कहा है कि कोरोना संकट की चुनौतियों से निपटने के लिए अमेरिका और भारत ने मिलकर काम किया है। मेडिकल सामग्री के अलावा अमेरिका ने भारत 15 करोड़ एन-95 मास्क भेजने का फैसला किया है। इसके अलावा अमेरिका 10 लाख रैपिड डॉयग्नोटस्टिक टेस्ट भारत को उपलब्ध कराएगा।

मदद के लिए 20 से ज्यादा देश आए
कोरोना संकट के समय भारत की मदद के लिए अब तक 20 से ज्यादा देश सामने आ चुके हैं। भूटान ने ऑक्सीजन की आपूर्ति करने की पेशकश की है। अमेरिका अगले महीने एस्ट्राजेनेका के टीके को भेज सकता है। इस समय अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, रूस, आयरलैंड, बेल्जियम, रोमानिया, लक्जमबर्ग, पुर्तगाल, स्वीडन, ऑस्ट्रेलिया, भूटान, सिंगापुर, सऊदी अरब, हांग कांग, थाइलैंड, फिनलैंड, स्विटजरलैंड, नार्वे, इटली और यूएई मेडिकल सहायता भारत भेज रहे हैं।

दक्षिण कोरिया भी भेजेगा सहायता
दक्षिण कोरिया ने कहा है कि वह भारत की मदद के लिए ऑक्सीजन संकेंद्रक, कोविड-19 के उपचार में इस्तेमाल होने वाली किट और अन्य चिकित्सकीय सामग्री की आपूर्ति करेगा। दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से प्रसार के लिहाज से भारत सबसे बुरी तरह प्रभावित है। दक्षिण कोरिया के स्वास्थ्य अधिकारी यून ताएहो ने बुधवार को कहा कि सरकार ने भारत से दक्षिण कोरिया के नागरिकों को वापस लाने के लिए कुछ उड़ानों की अनुमति दी है।

Related Articles

Back to top button