Select your Language: हिन्दी
Gujarat

गुजरात राज्य में रापर तहसील के सेलारी गांव मे बैंक ऑफ बरोड़ा ने कोविड-19 और गवर्नमेंट गाइडलाइंस का कर रहे उल्लंघन

गुजरात राज्य में रापर तहसील के सेलारी गांव मे बैंक ऑफ बरोड़ा ने कोविड-19 और गवर्नमेंट गाइडलाइंस का गांव के बीचो बीच मेन सड़क पर सरेआम उल्लंघन कर रहे हैं।

सेलारी गांव के बैंक ऑफ बरोड़ा के कर्मचारी खुद बैंक में A.C. में बैठकर बैंक के सभी ग्राहकों को बैंक के बाहर और धूप में खड़ा करके खुद की सलामती रखते है और ग्राहकों की सलामती का कोई भी और किसी भी तरह का ख्याल न रखते हुए खिड़की पैसों की लेनदेन करते हैं। बीच सड़क में पैसों की लेनदेन करते हुए अगर किसी ग्राहक के साथ बीच रास्ते में चोरी और लूटपाट होती है तो उसका जिम्मेदार किसको ठहराया जाए ?

कल दोपहर में हमारे एक रिपोर्टर देवराज भाई बारवडीया ने बैंक ऑफ बरोड़ा रीजनल ऑफिस – भुज मैं 7750884623 नंबर पर कॉल करके और व्हाट्सएप पर बैंक का वीडियो भी भेज कर गुप्ता जी से बात किया तो उन्होंने बताया कि अभी हमारे स्टाफ की कमी के वजह से आप आज के दिन को ऑपरेट कर लो कल सुबह से हमारी ब्रांच के बाहर एक सिक्योरिटी गार्ड खड़ा रहेगा और लोगों को सैनिटाइज करवाएगा उसके बाद 5 लोगों को बैंक के अंदर जाने देगा। कल सुबह से गवर्नमेंट गाइडलाइंस के अनुसार बैंक चालू होगा। मगर आज सुबह भी बैंक कल की तरह ही चालू किया गया ना तो कोई वॉचमैन था ना तो कोई सैनिटाइजर था। आज सुबह भी गवर्नमेंट गाइडलाइंस का खुलेआम उल्लंघन करते हुए बैंक चालू किया गया। फिर भी इसके ऊपर किसी भी तरीके की कोई भी कानूनी कार्यवाही नहीं हो रही।

बैंक ऑफ बरोडा की रीजनल ऑफिस भुज में बताने के बावजूद भी किसी भी तरीके का इस ब्रांच में कोई सुधार नजर नहीं आ रहा है उसका मतलब इन दोनों में से कोई एक वजह हो सकती है। या तो इस बैंक ऑफ बरोडा सेलारी ब्रांच को उनकी रीजनल ऑफिस भुज से कोई कुछ बोलता नहीं और अगर कोई बोलता है तो यह लोग सुनते नहीं है।

रिपोर्ट:  सुरज लोहार

Related Articles

Back to top button