Select your Language: हिन्दी
Delhi

जनवरी 2023 तक पूरा हो जाएगा देश का पहला ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का काम, प्रदूषण में आयेगी कमी

1 लाख करोड़ रुपए की लागत से दिल्ली से मुंबई के बीच 1,350 किलोमीटर लंबा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे बनाया जा रहा है। इस एक्सप्रेस-वे पर 350 किलोमीटर तक काम हो चुका है। फिलहाल अभी इसपर 8 लेन बनाए जा रहे हैं। इनके अलावा बाद में 4 लेन और बढ़ाए जाएंगे। 2 जाने के और 2 आने के। जिसका उपयोग सिर्फ इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए किया जाएगा। यह देश का पहला एक्सप्रेस-वे होगा, जिस पर डेडिकेटेड इलेक्ट्रिक व्हीकल फोरलेन होंगी। डेडिकेटेड इलेक्ट्रिक व्हीकल फोरलेन की कारण इसे ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे नाम दिया गया है। क्योकि इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे से केवल समय ही नहीं बचाएगा, बल्कि प्रदूषण भी कम होगा।

इसके अलावा इस एक्सप्रेस-वे के किनारे नई औद्योगिक टाउनशिप और स्मार्ट सिटी बनाने का भी प्रस्ताव है। इसका सर्वे जारी है। पूरे रूट पर 92 स्थानों पर इंटरवल स्पॉट डेवलप किए जाएंगे। सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी है कि इस एक्सप्रेस-वे का काम जनवरी 2023 तक पूरा हो जाएगा। हालांकि, कोविड के चलते काम में देरी हुई थी।

Related Articles

Back to top button