Select your Language: हिन्दी
India

लखीमपुर हिंसा को लेकर आज किसान कर रहे रेल रोको आंदोलन

आज संयुक्त किसान मोर्चा सुबह सुबह 10 से शाम 6 बजे तक देश भर में रेल रोको आंदोलन चला रहा है। किसान नेताओं ने चेतावनी दी है कि रेल रोको आंदोलन के बाद भी अगर उनकी मांगे नहीं मानी गईं, तो आंदोलन को और तेज कर दिया जाएगा। इसे लेकर देशभर के किसान नेता मीटिंग करके आगे की रणनीति बनाएंगे।इस मोर्चे की मांग है कि लखीमपुर मामले में निष्पक्ष जांच तब तक नहीं हो सकती जब तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र को बर्खास्त नहीं किया जाता। संगठन के नेताओं की मांग है कि मिश्र को मंत्रिमंडल से हटाने के बाद उन्हें गिरफ्तार भी किया जाए। मोर्चा ने लखीमपुर मामले को नरसंहार बताया है।
आंदोलन के चलते जिन रेलवे स्टेशनों और उनके आसपास के रेल सेक्शंस पर सेवाएं ज्यादा प्रभावित होने की आशंका है, उनमें दिल्ली से रोहतक, पानीपत, सोनीपत, कुरुक्षेत्र, कैथल, बहादुरगढ़, अंबाला, जालंधर, लुधियाना, चंडीगढ़, अमृतसर, जम्मू, मेरठ, गाजियाबाद, शामली, सहारनपुर, मुरादाबाद समेत कुछ अन्य सेक्शंस शामिल हैं। इन रूट्स पर इससे पहले भी कई बार अलग-अलग जगहों पर किसान रेलवे ट्रैक जाम कर चुके हैं।

इस प्रदर्शन का असर उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिलों में व्यापक रूप से देखने को मिल सकता है। रेल रोकने के ऐलान के बाद से पुलिस-प्रशासन अलर्ट है। रेलवे के अधिकारी रविवार रात तक इस पर मंथन भी करते रहे। ADG लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि आंदोलन को देखते हुए 44 कंपनी PAC और 4 कंपनी अर्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई है। पश्चिमी UP के 14 संवेदनशील जिलों में सीनियर IPS की तैनाती पहले से चल रही है।
लखनऊ जंक्शन से जाने वाली 05086 लखनऊ-मैलानी विशेष गाड़ी सीतापुर में शार्ट टर्मिनेट होगी।
मैलानी से जाने वाली 05085 मैलानी-लखनऊ विशेष गाड़ी सीतापुर से चलाई जाएगी।
गोरखपुर से चलने वाली 05009 गोरखपुर-मैलानी विशेष गाड़ी को लखनऊ में शार्ट टर्मिनेट किया गया।
मैलानी से छूटने वाली 05010 मैलानी-गोरखपुर विशेष गाड़ी लखनऊ जंक्शन से चलाई जाएगी।
यह भी पढ़ें-प्लीज आर्मी भेजिए: बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान ‘मां’ की झांकियों पर हमला; हिंसक झड़प में 4 की मौत

Related Articles

Back to top button