Select your Language: हिन्दी
India

सीधे संसद जाने के लिए अड़े राकेश टिकैत, शीत सत्र के पहले ही दिन करेंगे कूच

पीएम मोदी द्वारा तीनो कृषि क़ानून वापस लेने का ऐलान करने के बावजूद भी किसान नेताओं ने आंदोलन जारी रखा है. इसी के साथ ही किसानो के नेता बने राकेश टिकैत ने संसद के शीतकालीन सत्र के शुरुआत होने के पहेल दिन ही ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है। भारतीय किसान युनियन (भाकियू) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि 29 नवंबर को शीत सत्र के पहले दिन 1000 लोग 60 ट्रैक्टर लेकर संसद की ओर कूच करेंगे।

एएनआई से बात करते हुवे राकेश टिकैत ने कहा, ‘जो सड़के सरकार द्वारा खोली गई हैं। उन सड़कों से ट्रैक्टर गुजरेंगे। हम पर पहले सड़कों को ब्लॉक करने का आरोप लगाया गया था। हमने सड़क को अवरुद्ध नहीं किया था। सड़कों को ब्लॉक करना करना हमारे आंदोलन का हिस्सा नहीं है। हमारा आंदोलन सरकार से बात करना है। हम सीधे संसद जाएंगे।’ टिकैत ने यह भी घोषणा की कि अन्य मुद्दों के अलावा एमएसपी कानून के लिए दबाव बनाने के लिए कम से कम एक हजार लोग संसद जाएंगे।

उधर सरकार द्वारा भी बिल वापसी को लेकर संसदीय प्रकिया शुरू कर दी गयी है. जहाँ पीएम द्वारा कृषि क़ानून के वापसी के ऐलान के बाद केंद्रीय कैबिनेट की बुधवार को ही मीटिंग होने वाली है, जिसमें कृषि कानूनों की वापसी के लिए बिल पेश करने पर मुहर लगेगी। इसे संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत में ही पेश किया जा सकता है। संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू होगा और 23 दिसंबर तक चलने की उम्मीद है।

Related Articles

Back to top button