Select your Language: हिन्दी
India

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर जानिये क्या है देशवासियों की राय, 54 फीसदी भारतीयों ने नकारा

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर इस समय हर कोई उत्सुक है. क्योंकि इन दिनों भारत में क्रिप्टोकरेंसी सबसे गर्म मुद्दा बना हुआ है। जबसे सरकार द्वारा निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करने के उद्देश्य से शीतकालीन सत्र में बिल पेश करने की तैयारी की खबर सामने आई है तबसे लोग इसेक बारे में सचेत रहना चाह रहे हैं. इसी मुद्दे को लेकर कि क्रिप्टोकरेंसी के बार में लोगों की आम राय क्या है इस पर लॉइन सर्किल ने यह सर्वे किया है। । इसमें देशवासियों की क्रिप्टोकरेंसी को लेकर राय पूछी गई। इस दौरान जो आंकड़े प्राप्त हुए वो बेहद ही चौंकाने वाले रहे। सामने आया कि देश की आधे से ज्यादा आबादी चाहती है कि क्रिप्टोकरेंसी को भारत में वैधता नहीं दी जानी चाहिए।

यह सर्वे ऐसे समय में किया गया है जबकि सरकार इस मसले को लेकर बेहद गंभीर है। ऐसे में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इसके खतरों के प्रति लोगों को आगाह कर चुके हैं। ऐसे में सर्वे के दौरान 54 फीसदी भारतीयों ने क्रिप्टोकरेंसी को पूरी तरह से नकार दिया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को देश में क्रिप्टोकरेंसी वैध नहीं करनी चाहिए। आंकड़ों पर नजर घुमाएं तो साफ है कि देश का लगभग हर दूसरा व्यक्ति डिजिटल करेंसी के पक्ष में नहीं है।

सर्वे में पाया गया कि वर्तमान में भले ही क्रिप्टोकरेंसी पल में लोगों को मालामाल बना रही हो, लेकिन 71 फीसदी भारतीय इससे संतुष्ट नहीं है। इनका अंतरराष्ट्रीय क्रिप्टोकरेंसी पर बिल्कुल भरोसा नहीं है, जबकि 51 फीसदी लोग चाहते हैं कि भारत सरकार को अपनी डिजिटल मुद्रा को लॉन्च करना चाहिए। लोगों ने यह भी कहा कि इस डिजिटल मुद्रा पर विदेशी डिजिटल संपत्ति की तरह ही लगाया जाना चाहिए।

Related Articles

Back to top button