India

अलविदा बिपिन रावत

नैशनल डिफेंस अकादमी से अपने सैन्य सफर की शुरुआत करने वाले बिपिन रावत आज चीर निंद्रा में चले गए। तमिलानडु के हादसे में जनरल बिपिन रावत का असामयिक निधन हो गया। आज दिनभर उनके लिए दुवाओं का दौर चलता रहा। लेकिन हादसा इतना भयानक था की विमान में सवार किसी भी यात्री को नहीं बचाया सका। हादसे की तमाम खबरों के बीच सारे देश की निगाहें नीलगिरि पर्वत की उसी शिरा पर टिकी रही, जहां आखिरी बार जनरल रावत के चॉपर को उड़ते देखा गया।

नैशनल डिफेंस अकादमी से अपने सैन्य सफर की शुरुआत करने वाले रावत नहीं रुके आज दोपहर की उस उड़ान तक, जिसके बाद उनके जाने की दुखद खबर सामने आई है। वो चलते रहे एक अभूतपूर्व यात्रा पर गोरखा राइफल्स के उस जवान के रूप में ही, फिर चाहे ओहदे कितने बड़े हुए हों। जनरल रावत सीमाओं पर पहुंचे तो जवानों का साहस बढ़ाया, वे अपनी सीधी भाषा में भी बहुत बढ़ी चेतावनी दे जाते थे। उन्होंने अपनी सीधी भाषा देश के तरफ आँख उठाकर देखने वालों को कहा दिया था कि हिंदुस्तान पर उठी हर आंख निकाल ली जाएगी।

Related Articles

Back to top button